चीन से दोस्ती या दुश्मनी का फैसला आज

नई दिल्ली(15 अक्टूबर): आठवां ब्रिक्स सम्मेलन आज से गोवा में शुरू हो रहा है। इस सम्मेलन के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी-जिनपिंग और पीएम मोदी की अहम मुलाकात होगी। आज दोनों की मुलाकात से साफ हो सकता है कि भारत-चीन एक अच्छे दोस्त बनेंगे या रिश्तों में मौजूदा दौर की तरह उतार-चढाव लगा रहेगा। 

-जहां तक बात चीन की है तो वह पहले ही कह चुका है भारत की एनएसजी और मसूद अजहर के मुद्दे पर उसका स्टैंड पहले की तरह रहेगा। 

- चीन, भारत की एनएसजी मेंबरशिप को लेकर लगातार विरोध कर रहा है। वहीं, चीन यूएन में जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने का विरोध किया था। 

- अजहर वही आतंकी है, जिसे 1999 में कंधार हाईजैक केस में यात्रियों की रिहाई के बदले छोड़ा गया था। पठानकोट एयरबेस और उड़ी आर्मी कैम्प पर हमले में जैश का ही हाथ था। चीन साफ कर चुका है कि वो भारत के राजनीतिक फायदे के लिए ऐसी किसी भी कोशिश का सपोर्ट नहीं कर सकता। प्र