डोकलाम में ड्रैगन को पटखनी देने के बाद चीन जाएंगे PM मोदी

नई दिल्ली (29 अगस्त): डोकलाम में तकरीबन ढ़ाई महीन से जारी विवाद में भारत ने चीन को रणनीतिक और कुटनीतिक स्तर पर मात दी है। चीन को मजबूर भारत की बात को मानकर डोकलाम से अपनी सेना को हटाना पड़ा है। इस समझौते के तहत भारत ने भी वहां से अपनी सैना हटा ली है। डोकलाम विवाद सुलझने के बाद अब पीएम मोदी BRICS सम्मेलन में हिसा लेने के लिए चीन जाएंगे। इस पहले खबर आ रही थी कि अगर डोकलाम विवाद नहीं सुलझा तो प्रधानमंत्री मोदी ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी चीन के शियामेन में 3 से 5 सितंबर के बीच होने वाली BRICS समिट में हिस्सा लेंगे। आपको बता दें कि 9वां ब्रिक्स सम्मेलन 3 से 5 सितंबर तक चीन के शियामेन में होने वाला है। BRICS (ब्राजील, रूस, इंडिया, चाइना, साउथ अफ्रीका) देशों का एक ग्रुप है। यह 2011 में बना था। इसमें दुनिया की 43% आबादी का रिप्रेजेंटेशन है। इनकी कुल जीडीपी दुनिया की जीडीपी का 23.1% है। भारत इस समिट की दो बार मेजबानी कर चुका है।


इसके साथ ही पीएम मोदी म्यांमार के राष्ट्रपति यू ह्टिन क्याव के आमंत्रण पर 5 से 7 सितंबर तक म्यांमार का भी दौरा करेंगे।