दुर्गम रास्ते पर भारत बिछाने जा रहा है दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ट्रैक

नई दिल्ली (18 अक्टूबर): भारत दुनिया का सबसे ऊंचा और कठिन रेलवे ट्रैक बिछाने जा रहा है। भारत ये रेलवे ट्रैक हिमाचल प्रदेश में बनाने जा रहा है। दरअसल केंद्र सरकार बिलासपुर-मनाली-लेह को नेटवर्क से जोड़ने की की कयावद में जुटी है और रेलवे इस महत्वाकांक्षी योजना पर तेजी से काम कर रहा है। जानकारी के मुताबिक इसके तहत पहले चरण का लोकेशन सर्वे भी हो चुका है।इसके तहत हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में 30 स्टेशन बनाने की बात कही गई है। यह रेल लाइन बिलासपुर और लेह के बीच सुंदर नगर मंडी मनाली, केलांग, कोकसर, दारचा, उपसी और कारू जैसे सभी महत्वपूर्ण स्थानों तथा रास्ते में आने वाले हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर राज्यों के अन्य महत्वपूर्ण शहरों को आपस में जोड़ेगी। लेह-लद्दाख को बिलासपुर से जोड़ने वाली ये रेलवे लाइन भानु पल्ली रेलवे स्टेशन से निकलेगी, जो आनंदपुर साहिब से होते हुए गुजरेगी। आपको बता दें कि यह रेल लाइन जोखिम भरे दुर्गम क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। इस क्षेत्र में ऑक्सीजन की कमी हिमस्खलन भूस्खलन और शून्य से नीचे तापमान जैसी तमाम कठिन चुनौतियां हैं।

एक अनुमान के मुताबिक इस लाइन को बनाने में 83,360 करोड़ रुपये का खर्चा आएगा। इसके ट्रैक की ऊंचाई समुद्र तल से तकरीबन 3300 मीटर ऊपर होगी। जब यह रेल लाइन बनकर तैयार हो जाएगी तो ये दुनिया के सबसे ऊंचे इलाकों से गुजरने वाली सबसे ऊंची रेल लाइन होगी। इस योजना के पूरे होने पर भारतीय रेलवे चीन शंघाई-तिब्बत रेलवे को पीछे छोड़ देगा। बताया जा रहा है कि रेल लाइन बनने के बाद बिलासपुर से लेह के बीच में 40 घंटे का सफर घटकर 20 घंटे का हो जाएगा।