बलूचिस्तान में पाकिस्तान की करतूत को संयुक्त राष्ट्र में बेनकाब करेगा भारत

नई दिल्ली(8 जून): बलूचिस्तान में लगातार हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन के मामले को आज भारत संयुक्त राष्ट्र में उठाएगा।

बता दें पाकिस्तान बलूच नेताओं और आम नागरिकों पर लगातार कहर बरसा रहा है।

- यूएन में भारत के प्रतिनीधि राजीव के चंदेर का कहना है कि पाक ऐसा देश है जो लगातार अपने ही नागरिकों के मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। पाकिस्तान बलूचिस्तान समेत पाक अधिकृत कश्मीर में भी आम जनता पर अत्याचार कर रहा है।

- भारत का कहना है कि पाकिस्तान अपने लोगों पर भी हवाई हमले करवाता है। उसे ऐसा करने में कोई हिचकिचाहट नहीं होती है।

- बता दें कि बलूचिस्तान पाक के लिए एक खास है क्योंकि क्षेत्रफल के हिसाब से यह पाकिस्तान का सबसे बड़ा प्रांत है। इसकी सीमाएं ईरान और अफगानिस्तान से मिलती है और ये प्राकृतिक संसाधनों से भरा हुआ है। बलूचिस्तान में गैस, कोयला, तांबा और कोयला के बड़े भंडार है, लेकिन अब भी बलूचिस्तान पाकिस्तान का सबसे गरीब प्रांत है।

- बलोच राष्ट्रवादी नेताओं का आरोप है कि पाकिस्तान की केंद्रीय सरकार उनका उत्पीड़न कर रही है और उन्हें उनके वाजिब अधिकार नहीं दे रही है।

- पाकिस्तान का कहना है कि वो बलूचिस्तान में अलगावादियों के खिलाफ लड़ाई जीत रहा है जबकि बलोच कार्यकर्ताओं का कहना है कि पाकिस्तानी सेना वहां अपहरण, उत्पीड़न और हत्याएं कर रही है जिसके कारण वहां पाकिस्तान के खिलाफ भावनाएं भड़क रही हैं।

- बलूचिस्तान के लोगों में नाराजगी दशकों से रही है लेकिन चरमपंथ की ताजा लहर 2006 में उस वक्त शुरू हुई जब पाकिस्तानी सेना ने बलोच कबायली नेता नवाब अकबर बुगती को मार दिया था।