'कोहली के लिए खो दिया है सम्मान'

नई दिल्ली(6 मार्च): ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर इयान हीली ने कहा है कि दूसरे क्रिकेट टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के खिलाफ लगातार छींटाकशी के कारण उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिए सम्मान खो दिया है लेकिन ऑस्ट्रेलिया के एक अन्य पूर्व क्रिकेटर साइमन कैटिच ने इसे अधिक तवज्जो नहीं दी।

- हीली ने कहा कि कोहली ने ऑस्ट्रेलिया का अपमान किया और भारतीय कप्तान को अपनी मैदानी आक्रामकता को कम करना चाहिए था।

- उन्होंने साथ ही कहा कि कोहली का टकराव का रवैया टीम के उनके साथियों पर दबाव डाल रहा है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज कैटिच का आकलन हालांकि इससे बिलकुल अलग है। उनका मानना है कि किसी भी टीम ने हद पार नहीं की जबकि दो शीर्ष टेस्ट टीमों के बीच हो रही सीरीज के स्तर को देखते हुए तनाव होना समझ में आता है।

- ऑस्ट्रेलिया की ओर से 119 टेस्ट खेलने वाले हीली ने मेलबर्न रेडियो स्टेशन ‘एसईएन’ से कहा, ' कोहली पर दबाव बोलने लगा है। मैं उसके लिए सम्मान गंवा रहा हूं। उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वियों का कहीं अधिक सम्मान करना चाहिए। स्टीव स्मिथ के साथ उसने जो किया वह अस्वीकार्य है।'

- इस विकेटकीपर बल्लेबाज का मानना है कि कोहली का कदम उनके स्वयं के खिलाड़ियों पर ही दबाव बना रहा है। उन्होंने कहा, 'मैं अतीत में कह चुका हूं कि मैंने जिन्हें देखा उनमें कोहली सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं। उसका जज्बा और विरोधी के खिलाफ आक्रामकता अतीत में अच्छी रही है विशेषकर जब वह कप्तान नहीं था। इससे उनकी टीम उनके साथ चलती थी।

-हीली ने कहा, 'इसलिए कोहली की आक्रामकता उनके लिए अच्छी थी। लेकिन मुझे लगता है कि अब यह उनके लिए अच्छी नहीं है। वह अपने खिलाड़ियों पर दबाव डाल रहे हैं। आप रविचंद्रन अश्विन के चेहरे पर दबाव पढ़ सकते हैं। मुझे लगता है कि कोहली में कमियां दिखने लगी हैं।'

-कैटिच ने हालांकि कहा कि कोहली और उनके ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष स्टीव स्मिथ ने महत्वपूर्ण टेस्ट में तनाव की स्थिति का काफी अच्छी तरह सामना किया है। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने एबीसी के ग्रैंडस्टैंड से कहा, 'मुझे लगता है कि दोनों इससे काफी अच्छी तरह निपटे। आप देख सकते हैं कि काफी भावनाएं जुड़ीं थीं, भारत विकेट चटकाने के लिए बेताब था। उन्हें पता है कि स्टीव स्मिथ का विकेट काफी महत्वपूर्ण है।'

-उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि स्टीव स्मिथ भी इससे काफी अच्छी तरह निपटे, वह हंस रहे थे। उसने इशांत का मजाकिया पहलू दिखाया और इशांत ने उसका। अंपायर भी स्थिति से काफी अच्छी तरह निपटे।'

-कैटिच ने कहा, 'कुल मिलाकर दोनों कप्तान काफी श्रेय के हकदार हैं क्योंकि ये चीजें आसानी से हाथ से निकल सकती थी। चीजें हाथों से निकल सकती थी लेकिन दोनों कप्तानों के कारण ऐसा नहीं हुआ।'