...तो इसलिए ऑस्ट्रेलिया पर भारी है भारत का पलड़ा

पुणे (22 फरवरी): भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कल से पुणे में 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का आगाज होने जा रहा है। सीरीज के शुरू होने से पहले ही सचिन तेंडुलकर समेत क्रिकेट जगत के तमाम दिग्गजों का कहना है कि इस सीरीज में भारत का पलड़ा भारी रहेगा हालांकि इन लोगों का कहना है कि कप्तान कोहली किसी भी सुरत में कंगारूओं को हल्के में नहीं ले सकते।

ऑस्ट्रेलिया के लिए ये टेस्ट सीरीज इसलिए भी मुश्किल मानी जा रही है क्योंकि विराट कोहली एंड कंपनी पिछले 19 टेस्ट मैचों से अजेय है और आखिरी बार अगस्त 2015 में गाल टेस्ट में श्रीलंका से हारी थी। इतना ही नहीं अपने घर में तो भारतीय टीम पिछले 20 मैचों से अजेय है और इनमें स 20 में जीत भी हासिल की है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिए स्पिन की मददगार माने जाने वाली एशिया की विकेटें मुश्किल का सबब बनती आई हैं। पिछले साल अगस्त में श्रीलंका के दौरे पर उसे लंकाई टीम ने 3-0 से धो दिया था।

हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने अपनी हालिया टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान के खिलाफ 3-0 से जीत हासिल की है। लेकिन भारतीय धरती पर उसका बुरा रिकॉर्ड उसकी मुश्किलें बढ़ा सकता है।

स्टीवन स्मिथ की अगुवाई में ऑस्ट्रेलियाई टीम की बल्लेबाजी की कहानी स्मिथ के इर्द-गिर्द ही घूमेगी। स्मिथ अभी टेस्ट रैंकिंग में दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज हैं। उनसे ऑस्ट्रेलिया को इस सीरीज में काफी उम्मीदें होंगी। भारत-ए के साथ खेले गए प्रैक्टिस मैच में स्मिथ ने शतक जड़कर अपनी फॉर्म के संकेत भी दिए। स्मिथ के अलावा ओपनर डेविड वॉर्नर भी काफी अनुभवी हैं और शानदार फॉर्म में भी हैं।