Rio ओलंपिक: भारत का हौसला बुलंद, 118 एथलीट्स का काफिला लहराएगा 'तिरंगा'

नई दिल्ली (4 अगस्त): डोप स्कैंडल्स ने भले ही रियो ओलंपिक्स के लिए भारतीय खिलाड़ियों की तैयारी को प्रभावित करने की कोशिश की हो। लेकिन भारतीय एथलीट्स का हौसला बुलंद है। अभी तक का सबसे बड़ा काफिला 31वें ओलंपिक गेम्स में ऐतिहासिक मेडल्स पर जीत हासिल करने के लिए अपनी नज़र बनाए हुए हैं। शनिवार को दक्षिण अमेरिका में पहली बार ओलंपिक खेलों की ओपनिंग सेरेमनी है।

- भारत की नज़र दो अंकों वाले मेडल हॉल पर बनी हुई है।  - इस बार बड़ी संख्या में क्वालीफायर्स खेलों में शामिल होंगे। - ये संख्या 118 तक पहुंची है। धावक धर्मवीर सिंह और शॉट पुटर इंदरजीत सिंह को डोप नेट में फंसने के बाद खेलने से रोका गया। - हालांकि, इस ड्रामा में नरसिंह यादव भी फंसे, लेकिन बाद में उन्हें नाडा से क्लीन चिट मिलने के बाद ओलंपिक जाने की मंजूरी मिल गई। - विवादों में घिरने के बाद भी ओलंपिक की तैयारियों को देखा जाए, तो भारतीय एथलीट्स की परफॉर्मेंस में काफी सुधार हुआ है। जो उन्हें मेडल जीतने के लिए दावेदार बनाता है। - शनिवार को पहले दिन की प्रतियोगिताओं में भारत की नज़र शूटर जीतू राय पर है। जिन्होंने अब तक जिस भी ईवेंट में हिस्सा लिया उसमें मेडल जीता है। - अभिनव बिंद्रा भारत की तरफ से पांचवी व अंतिम बार झंडा उठाएंगे। - बिंद्रा ओलंपिक ब्रोंज़ मेडलिस्ट गगन नारंग को ज्वाइन करेंगे।  - उनके अलावा फोकस महिला शूटर्स हीना सिंधू, अयोनिका पॉल, अपूर्वी चंदेला पर भी रहेगा।