भारत का अमेरिका से 30 सशस्त्र ड्रोन खरीदने का सौदा, बढ़ेगी समुद्र में ताकत

modi

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो नई दिल्ली, (16 जून): रूस से बढ़ती भारत की नजदीकी से तिलमिलाए अमेरिका के रुख में आने वाले दिनों में कुछ नरमी आ सकती है। इसकी वजह भारत द्वारा उसके साथ की गई एक मेगा डिफेंस डील है। इसमें भारत यूएस से 30 सशस्त्र सी गार्जियन (या प्रीडेटर बी) ड्रोन खरीदेगा।

 हालांकि, इस डील के लिए भारत द्वारा रूस के साथ पहले किए गए एस-400 मिसाइल के सौदे पर कोई समझौता नहीं किया गया है। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत पर रूस से डील न करने का दबाव बनाया था, लेकिन वह बेअसर रहा। सूत्रों के मुताबिक ये 10-10 ड्रोन तीनों सेनाओं के लिए खरीदे जाएंगे। 

इसे दूर से कंट्रोल किया जा सकेगा और समुद्र के साथ स्थल पर भी टारगेट को खत्म करने में कामयाब होंगे। इस सौदे को मंजूरी के लिए डिफेंस अक्विजिशन काउंसिल (DAC) को भेज दिया गया है। एक बार डीएसी से मंजूरी मिलने के बाद भारत अमेरिका को 'लेटर ऑफ रिक्वेस्ट' जारी कर देगा। इसके बाद डील पेंटागन के विदेश सैन्य विक्रय कार्यक्रम के अंतर्गत होगी। 

एक सूत्र ने बताया कि इसमें एक साल का वक्त लग जाएगा। इससे पहले भारत ने 24 नेवल मल्टी रोल एमएच-60 रोमियो हेलिकॉप्टर्स की 2.6 अरब डॉलर की डील फाइनल की है। सितंबर से अक्टूबर तक ये हेलिकॉप्टर भारत को मिल सकते हैं। इसके अलावा एक अरब डॉलर की अडवांस्ड सरफेस टु एयर मिसाइल सिस्टम का भी सौदा किया गया है।