बिना बीमा सड़कों पर दौड़ रहे 60 फीसदी वाहन

नई दिल्ली(24 जनवरी):वाहनों के बीमा से जुड़े चौंकाने वाले देशभर के आंकड़े सामने आए हैं। साल 2015 में 1.5 लाख लोगों की सड़क हादसों में मौत हुई। बावजूद इसके अधिकतर वाहन चालकों ने सीख नहीं ली और भविष्य को देखते हुए बीमा नहीं कराया।

- सड़कों पर दौड़ रहे 60 फीसदी वाहनों का बीमा नहीं है।

- इनमें ज्यादातर दोपहिया वाहन हैं। जनरल काउंसिल ऑफ इंडिया (जीसीआई) ने इस बाबत आंकड़े पेश किए।

- जीसीआई ने चिंता जताते हुए कहा कि हादसों में जान गंवाने वाले ज्यादातर चालकों के वाहनों का बीमा नहीं था। जो बच गए उनके वाहनों के खरपच्चे उड़ गए और उन्हें मरम्मत में खुद से पैसे लगाने पड़े।

- जीसीआई के महासचिव आर चंद्रशेखरन साल 2015 तक 19 करोड़ वाहनों का पंजीकरण हुआ था। इनमें से 8.26 करोड़ वाहनों का ही बीमा था।

- वर्ष 2014 में 15 करोड़ वाहन पंजीकृत थे। इनमें से 6 करोड़ वाहनों का ही बीमा था। बता दें कि दोपहिया वाहनों से होने वाली मौतें ज्यादा हैं। 29 फीसदी सड़क हादसे दोपहिया वाहनों से होते हैं। कारों से महज 23 फीसदी दुर्घटनाएं होती हैं। इसके अलावा बस के हादसों का आंकड़ा 8.3 प्रतिशत है।