24 ऐतिहासिक धरोहरों को खोजने में जुटी ASI

नई दिल्ली(15 जनवरी): देश की लापता 24 धरोहरों की तलाश शुरू हो गई है।बार-बार संसद में लापता धरोहरों का मामला उठने के बाद एएसआई ने अपने स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इन धरोहरों की तलाश शुरू की जाए। इन अनमोल स्मारकों में कई मंदिर, बौद्ध खंडहर, कब्रिस्तान, मीनारें आदि शामिल हैं। इसमें से कई धरोहर दशकों से गायब हैं। उत्तर प्रदेश की सबसे ज्यादा दस इमारतें लापता हैं। 

- इमारतों के लापता होने के कई कारण है। कई धरोहर का रिकार्ड एएसआई नहीं रख पाया। इससे उनकी भौगोलिक स्थिति को तलाशना मुश्किल हो गया है। कई धरोहर प्राकृतिक आपदाओं और निर्माण कार्यों की भेंट चढ़ने की आशंका है। 

- एएसआई निदेशक देवकीनंदन डिमरी के मुताबिक 24 धरोहरों की यह सूची ब्रिटिश काल की हैं। तब से कई जगहों और गांवों के नाम बदल गए हैं। खसरा नंबर परिवर्तित हो चुके हें। ऐसे में उनकी तलाश मुश्किल हो गई है। आशंका है कि कई धरोहरों को दूसरी जगहों पर पहुंचा दिया गया होगा।