सावधान! आपको कभी भी आ सकता है इनकम टैक्स का यह खतरनाक SMS

नई दिल्ली (31 जनवरी): अगर आपने नोटबंदी के दौरान बैंकों में पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों के रूप में धन जमाया कराया था तो ये खबर आपके लिए जानना बेहद जरुरी है। कालधन जमा कराने वालों के बाद बैंकों में जमा हुए पूरे पैसे में से काला पैसा अलग करने के लिए सरकार अब मिशन मोड़ में जुट गई है। लोगों को ये आशंका भी थी कि सरकार के इस प्रयास में उन्हें टैक्स टेरेरिज्म का भी शिकार होना पड़ सकता है, लेकिन आज सरकार ने साफ कर दिया है कि लोगों को किसी भी तरह की मुश्किल नहीं होगी।

सरकार ने एक नया सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जिसमें सारा काम ऑन लाइन किया जाएगा जिसके चलते लोगों को आयकर दफ्तर तक भी जाने की ज़रूरत नहीं होगी और न ही उन्हें आयकर विभाग की तरफ से कोई नोटिस भेजा जाएगा। सरकार कल यानि 1 फरवरी से नोटबंदी के बाद जमा बड़े कैश पर कार्रवाई शुरू कर देगी। आयकर विभाग कल से लोगों को E-mail और SMS भेजने शुरू कर देगी।

पहले फेज में ये संदेश उन लोगों को भेजे जाएंगे, जिन्होंने अपने खाते में 5 लाख से ज्यादा रकम जमा की है और उऩके खाते में जमा रकम उनके बीते सालों में दाखिल किए इनकम टैक्स रिटर्न के मुताबिक टैक्स प्रोफाइल से मेल नहीं खा रही है। यानि जिन्होंने अपने आमदनी ना तो दिखाया और ना उसपर टैक्स अदा किया। ऐसे लोगों ईमेल और SMS भेजे जाएंगे। सरकारी आंकड़े बताते हैं कि ऐसे लोगों की संख्या 18 लाख है।