लालू के ठिकानों पर आयकर का छापा, बिहार की राजनीति में आया भूचाल

नई दिल्ली ( 16 मई ): आयकर विभाग ने आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनकी बेटी मीसा भारती से जुड़े कथित बेनामी लैंड डील मामले में दिल्ली-एनसीआर में छापेमारी की है। जानकारी के मुताबिक 1000 करोड़ रुपये की लैंड डील्स के मामले में दिल्ली और गुड़गांव में 22 ठिकानों पर छापे मारे गए हैं। ये छापे उन कंपनियों और लोगों के यहां मारे गए हैं जो लैंड डील के मामले में लालू से जुड़े रहे हैं। बताया जा रहा है कि छापे की कार्रवाई सुबह 8.30 बजे के आसपास शुरू की गई। सूत्रों के मुताबिक लालू के दामाद शैलेश कुमार के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई है।


लालू की बेटी और उनके दामाद ने यूपीए सरकार के दौरान करोड़ों की जमीन मुखौटा कंपनियों के जरिए बहुत ही कम दाम में खरीदी थी। यह काम मुखौटा कंपनियों के शेयर खरीदने और बेचने की आड़ में किया गया था। आरोपों के घेरे में लालू की सबसे बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार हैं। जिस कंपनी के जरिए यह कथित भ्रष्टाचार किया गया, उसका रजिस्टर्ड पता लालू का सरकारी आवास था।

 

जदयू ने इस पूरे मामले पर कहा कि अभी छापेमारी हुई है यह कोई बड़ी बात नही है। इससे क्या निकल कर आता है ये एक बड़ी बात होगी। जदयू का गठबंधन राजद से है। एक पार्टी के साथ है। इस मामले से जदयू को कोई मतलब नहीं है। यह लालू जी और उनके परिवार का मामला है।


राजद ने कहा कि बीजेपी लालू को समाप्त करना चाहती है। राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि बीजेपी पूरी योजना बनाकर राजद अध्यक्ष लालू यादव की राजनैतिक हस्ती को खत्म करना चाहती है। इसके लिए पूरी कहानी गढ़ी गई है। उनका यह प्रयास सफल नहीं होगा। हम सब साथ हैं और साथ ही रहेंगे। हम सब डटकर मुकाबला करेंगे।