आपके फोन पर भी बज सकती है इनकम टैक्स की घंटी...5.5 लाख लोग हैं निशाने पर


नई दिल्ली (15 जुलाई): नोटबंदी के समय कैश जमा करने वाले करीब 5.5 लाख लोगों को आयकर विभाग जल्द ही फोन कॉल करने वाला है। इसके अलावा अन्य 1 लाख लोग भी सभी एकाउंट्स की सही जानकारी न दिए जाने कि वजह से आयकर विभाग के रडार पर हैं। 'ऑपरेशन क्लीन मनी' के दूसरे फेज में टैक्स डिपार्टमेंट इन लोगों से इस बाबत जवाब मांगेगा कि उन्होंने अपने इनकम प्रोफाइल की सही-सही जानकारी अभी तक मुहैय्या क्यों नहीं करवाई है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि उनके पास 'संदिग्ध लेन-देन' के नए आंकड़े सामने आ गए हैं। हमने 5.5 लाख लोगों को अभी से ई-मेल और एसएमएस भेजने शुरू कर दिए हैं। इनकम टैक्स अथॉरिटी शेल कंपनियों और बेनामी संपत्ति का पता लगाने के लिए डाटा एनालिटिक्स की मदद ले रही है। विभाग को ऐसे करीब 1 लाख लोगों की जानकारी मिली है जिन्होंने अपने सही बैंक एकाउंट्स के सही आंकड़े नहीं दिए हैं। अभी तक कुल 6.5 लाख लोगों को बिना आईटी के दफ्तर आए ऑनलाइन ही इस संबंध में जानकारियां देनी होंगी। नोटबंदी के दौरान जमा किए गए 2 लाख रुपयों का इनकम टैक्स रिटर्न इस साल जोड़ा जाएगा।