आपकी हर हरकत पर सरकार की नजर, घर पर कभी भी धमक सकते हैं अधिकारी

नई दिल्ली (21 दिसंबर): नोटबंदी के बाद से कालेधन के कुबेर और भ्रष्टाचारी लगातार इनकम टैक्स, ईडी, खुफिया एजेंसी समेत तमाम जांच ऐजेंसियों की रडार पर हैं। ऐसे नटवरलालों पर लगातार कार्रवाई जारी है। देशभर में ऐसे लोगों के घरों पर छापेमारी जारी है। ऐसे में अगर कभी भी इनकम टैक्स विभाग के लोग आपके घर तक भी पहुंच जाएं तो अचरज की कोई बात नहीं।

दरअसल नोटबंदी के बाद बैंके में जमा हुए पुराने नोटों के बाद लगातार इनकम टैक्स अधिकारी ऐसे खातों की जांच में जुटे हैं जहां ज्यादा मात्रा में पैसे जमा कराए गए हैं। इनकम टैक्स के अधिकारी अब आपके रिटर्न से इन रकमों का मिलान कर रहे हैं। अगर जांच अधिकारियों को इस मिलान में कोई अंतर दिखता है या फिर उन्हें शक होता है तो संबंधित अधिकारी सबूत और दस्तावेज इकट्ठा कर आपके खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं। आपको पूछताछ के लिए बुला भी सकता है।

इतना ही नहीं यदि आप आईटी रिटर्न फाइल ही नहीं कर रहे हैं तो आप सबसे पहले लोगों में से होंगे जो आईटी विभाग के रडार पर हैं।

इसके साथ-साथ यदि आपने अपनी घोषित आय से सोना नहीं खरीदा है और अपने पास सोना रहा है तो भी आप आयकर विभाग के रडार में आ सकते हैं। ऐसे में आपको पूछताछ में आईटी विभाग को इन सोने की खरीद का सोर्स बताना होगा और आपके जवाब से संतुष्ट न होने पर आपके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है।

इसके अलावा यदि आप शानो शौकत के साथ जीते हैं लेकिन आपने आय कागजों में कम दिखाई हुई है तो इस पर सवालिया निशान उठाए जा सकते हैं। यह पूछा जा सकता है कि हाई-फाई जीवन जीने के लिए जरूरी धन आपके पास कहां से आया है। अघोषित आय यानी काले धन के शक और सबूत के साथ रेड भी मारी जा सकती है। यदि आप अचानक एक के बाद विदेश यात्राएं कर रहे हैं जबकि आपकी आय में इजाफा नहीं हुआ तो यह पूछा जा सकता है कि ऐसा क्यों है और कैसे है और इसके लिए धन कैसे प्राप्त हुआ।