नोटबंदीः इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का आदेश, 31 मार्च तक नहीं किया यह काम तो पड़ेगा पछताना

नई दिल्ली ( 9 फरवरी ): आयकर विभाग ने शुक्रवार को उन लोगों से 31 मार्च तक इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने को कहा है जिन्होंने नोटबंदी के बाद बैंकों में बड़ी नकदी जमा की थी। ऐसा नहीं करने पर जुर्माने और मुकदमे का सामना करना पड़ सकता है। डिपार्टमेंट ने ट्रस्टों, राजनीतिक दलों और संगठनों को भी इसी समय सीमा में ITR दाखिल करने को कहा है। 

डिपार्टमेंट ने इसको लेकर प्रमुख अखबारों में विज्ञापन जारी किया है। इसमें कहा गया है कि आकलन वर्ष 2016-17 और 2017-18 के लिए देरी या संशोधित ITR फाइल करने का यह अंतिम मौका है। यह भी रेखांकित किया गया है कि इस तरह के टैक्सपेयर्स के लिए यह अंतिम मौका है और उन्हें अंतिम तारीख का इंतजार किए बिना जल्द ITR दाखिल करनी चाहिए। 

विज्ञापन में कहा गया है, 'यदि आपने अपने बैंक अकाउंट में बड़ी मात्रा में कैश जमा कराया या फिर बड़े ट्राजैक्शन किए तो ITR फाइल करते समय इसका ध्यान रखें। ITR फाइल नहीं करने या गलत ITR फाइल करने पर जुर्माने के साथ मुकदमा हो सकता है।' 

इसमें कहा गया है कि सभी कंपनियों, फर्म को भी ऐसा करने की करने जरूरत है। यह समय सीमा ट्रस्ट, राजनीतिक दलों और उन संगठनों के लिए भी है।