Blog single photo

'कल्कि भगवान' के यहां IT का रेड, 500 करोड़ से ज्यादा काला धन बरामद

बेंगलूरु से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। एक बाबा का पता चला है जिसके पास अकूत संपत्ति है। आयकर विभाग ने जब बाबा के आश्रम में छापा मारा तो करोड़ों रुपये बरामद हुए हैं

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(18 अक्टूबर): बेंगलूरु से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। एक बाबा का पता चला है जिसके पास अकूत संपत्ति है। आयकर विभाग ने जब बाबा के आश्रम में छापा मारा तो करोड़ों रुपये बरामद किए गए हैं। इस कथित गुरु का नाम कल्‍कि भगवान है। इस बाबा ने अपने साम्राज्‍य की शुरुआत एक लाइफ इंश्‍योरेंस क्‍लर्क के तौर पर की थी। ये खुद को भगवान विष्‍णु का 10वां अवतार बताता है। इनकम टैक्‍स विभाग ने शुक्रवार को बेंगलुरु के आश्रम पर जब छापा मारा गया तो उनकी आंखें फटी की फटी रह गईं। यहां से आईटी विभाग को 93 करोड़ रुपए सिर्फ कैश मिला। इसके अलावा इस बाबा के दूसरे आश्रमों पर मारे गए छापे में 409 करोड़ की अघोषित संपत्‍ति का पता चला है।

आयकर विभाग ने बताया कल्कि और उसके बेटे कृष्णा के आंध्रा और तमिलनाडु में 40 ठिकानों पर छापे मारे गए हैं। आईटी की रेड एक साथ चेंनई, हैदराबाद, बेंगलूरु और वरादियापालम (चित्‍तूर के पास आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु के बॉर्डर पर) में डाली गई। कल्कि समूह की  स्‍थापना एकता के सिद्धांत पर 1980 में की थी। इसके बाद इसने अपने इस समूह का चारों ओर विस्‍तार किया। इसमें रीयल एस्‍टेट, कंस्‍ट्रक्‍शन और खेल के क्षेत्र में इसने अपनी जड़ें जमाईं। इसके समूह का विस्‍तार भारत में ही नहीं बल्‍कि विदेशों में भी था। ट्रस्‍टों का समूह दर्शन और आध्‍यात्‍मिकता में कल्‍याणकारी कार्यक्रम और ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाता था। अपने कोर्स के माध्‍यम से इस समूह ने विदेश में रहने वालों को खूब लुभाया, इस कारण इसके पास विदेशी मुद्रा भी जमकर आई।

आयकर विभाग के अनुसार, ये समूह दी जाने वाली रसीदों में हेराफेरी करता था और पैसों को रियल एस्‍टेट में लगाता। इसी कारण इसने आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में जमकर जमीन खरीदी। सर्च ऑपरेशन में साफ पता चला कि आश्रम ने लोगों से मिलने वाले डोनेशन को अपने तरीके से दबाया। आश्रम और समूह का स्‍टाफ अकाउंट बुक के अलावा भी कैश रखता था। इसके अलावा ये प्रॉपर्टी को ऊंचे दाम पर बेचकर काली कमाई कर रहे थे। छापे के दौरान बड़ी मात्रा में विदेाशी मुद्रा मिली है।

आयकर विभाग के छापे में 25 लाख अमेरिकी डॉलर (करीब 18 करोड़ रुपए) मिले। 88 किलो सोना और ज्‍वेलरी बरामद किए गए। इनकी कीमत 26 करोड़ के आसपास बैठती है। 5 करोड़ रुपए के डायमंड इन छापों के दौरान बरामद किए गए। इसके अलावा जांच में इस पूरे ग्रुप की 500 करोड़ की अघोषित कमाई का आकलन किया गया है।

Tags :

NEXT STORY
Top