टैक्स चोरों पर आसमानी नजर का कहर, खेती की आड़ में छूट लेने वाले धरे जायेंगे

नई दिल्ली (19 सितंबर): सरकार ऐसे टैक्सपेयर्स की जांच कर रही है जिन्होंने मार्च 2016 तक कृषि से 1 करोड़ रुपये से अधिक कमाई की घोषणा करके टैक्स चोरी के प्रयास किये हैं। इनकम टैक्स विभाग ऐसे करदाताओं के भूखण्डों की पहचान कर इसरो के सैटेलाइट से मिलान कर रही है। विभाग का मकसद यह पता करना है कि करदाता के दावे के मुताबिक उसके भूखण्ड पर अवधि विशेष में फसल उगी भी थी या नहीं।

दरअसल,  एक शख्स ने फार्मलैंड की बिक्री से आमदनी पर टैक्स छूट का दावा किया। यह छूट तभी मिलती है जब बिक्री से पहले कम से कम दो सालों तक इस पर खेती की गई है। अधिकारियों को शक हुआ तो उन्होंने इसरो से संपर्क किया और उस जमीन की 3 साल से अधिक की तस्वीरें हासिल कीं। इस तरह डिपार्टमेंट यह पता लगाने में कामयाब रहा कि जमीन बंजर पड़ी थी और इस पर कोई फसल नहीं उगाई गई थी।