ससुराल वालों ने बहू को बना दिया चलता-फिरता कंकाल

नई दिल्ली (20 जुलाई): महाराष्ट्र के अमरावती जिले में ससुराल वालों ने पिछले एक साल से अपने घर में अपनी ही बहू को बंद कर रखा था।  खाने-पीने के लिए कुछ न मिलने से बहू की हालत चलते-फिरते कंकाल जैसी हो गयी थी। स्थानीय लोगों की मदद से उस महिला को उसके परिजनों ने आजाद करवाया। महिला का आरोप है कि ससुरालवालों ने पति की मौत के बाद से उसे एक कमरे में बंद रखा था और उसे खाने के लिए सिर्फ उतना ही देते थे जिससे वो जिंदा बनी रहे। फिलहाल महिला का अमरावती के सरकारी अस्पताल में  में इलाज हो रहा है।  

- अमरावती के कुन्हा गांव की रहने वाली जयश्री की कुछ साल पहले नांदेड के माहूर में सुरेश दूधे से शादी हुई थी। - शादी के बाद जयश्री के तीन बच्चे हुए। एक साल पहले सुरेश की एक दुर्घटना में मौत हो गई। - सुरेश की मौत के बाद जयश्री को उसके ससुरालवाले प्रताड़ित करने लगे।  - ससुरालवालों का कहना था कि जयश्री के कारण सुरेश की मौत हुई।  - वे अक्सर उसकी पिटाई करते, खाने के लिए भी कुछ नहीं देते और उसे एक कमरे में बंद रखते थे। - डॉक्टरों का कहना है कि, खाना न मिलने के कारण जयश्री की हालत काफी खराब हो गई है। फिलहाल उन्हें दवाइयों पर रखा गया है। - जयश्री के पिता ने पुलिस स्टेशन में ससुरालवालों के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करवाई है।