दिल्ली में यमुना खतरे के निशान के ऊपर, 50 ट्रेन रद्द, 90 का रूट बदला

नई दिल्ली (14 अगस्त): जहां एक ओर बिहार में गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही तो वहीं दूसरी ओर यमुना नदी का पानी भी शनिवार को खतरे का निशान से ऊपर आ गया। यमुना के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए पुराने पुल से होकर आने वाली करीब 50 से ज्यादा ट्रेनों कैंसिल कर दिया है और 90 को डायवर्ट कर दिया है।ट्रेनों के रूट बदलने का निर्णय फिलहाल 24 घंटे के लिए लिया गया है।

इन घंटों में अगर यमुना का स्तर खतरे के निशान से कम हो जाता है तो डायवर्ट हुई ट्रेन वापस अपने ट्रैक पर आ जाएंगी और अगर ऐसा नहीं हुई तो इन्हीं रूट पर चलेंगी। बदले हुए रूट में दिल्ली, नई दिल्ली, तिलक ब्रिज और साहिबाबाद से आने-जाने वाली करीब 150 ट्रेनें प्रभावित होंगीं। स्थिति पर ध्यान देने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है जो 24 घंटे ट्रैफिक पर नजर रखेंगे।  राज्य सरकारों को भी इन निर्णयों के बारे में जानकारी दी गई है। इसके साथ स्टेशन मैनेजर्स और सीनियर ऑफीसर्स को भी निर्देश दिया गया है कि वे यात्रियों के नियंत्रण, रिफंड और घोषणाओं का ध्यान रखें, जिससे यात्रियों को ज्यादा परेशानी का सामना न करना पड़े।