बुरे फंसे शरीफ, जाधव पर फिक्सिंग का आरोप

नई दिल्ली(21 मई): पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के चीफ इमरान खान ने कुलभूषण जाधव मामले पर कहा है कि ये नवाज शरीफ की फिक्सिंग है। इमरान खान ने ये भी कहा कि पनामा पेपर लीक मामले में नवाज के खिलाफ जांच कर रही ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम  को नवाज के भारत में बिजनेस इंट्रेस्ट्स की भी जांच करनी चाहिए।

- एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल से बातचीत में इमरान ने कहा, “नरेंद्र मोदी ने जब भारत के पीएम के तौर पर शपथ ली तो उन्होंने नवाज शरीफ को भी बुलाया। शरीफ मोदी से तो मिले लेकिन हुर्रियत के नेताओं से मुलाकात नहीं की। लगता है मामला पहले भी फिक्स था और अब भी फिक्स ही है।”

- “अब शरीफ कह रहे हैं कि जाधव का मामला हमारे हाथ में नहीं है बल्कि ICJ के हाथ में है। शरीफ पहला राउंड तो हार ही चुके हैं। जाधव की सजा पर रोक तो तभी लग गई थी जब भारतीय कारोबारी सज्जन जिंदल से मिलने आए थे।”

- पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ के मुताबिक, इमरान ने शरीफ पर नया और गंभीर आरोप लगाया। पनामा पेपर लीक मामले का जिक्र करते हुए इमरान ने कहा, “इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की बनाई JIT कर रही है। इस टीम को ये भी जांच करनी चाहिए कि आखिर शरीफ के भारत में क्या बिजनेस इंट्रेस्ट्स हैं।”

- “शरीफ जनता की कमाई को उसी तरह लूट रहे हैं जैसे कभी ईस्ट इंडिया कंपनी ने लूटा था।”