इम्पोर्टेड मोबाइल फोन होंगे महंगे, लगा 10% बेसिक कस्टम ड्यूटी

नई दिल्ली (1 जुलाई): 'वस्तु एवं सेवा कर' (जीएसटी) आखिरकार शुक्रवार मध्यरात्रि यानी 1 जुलाई पूरे देश में लागू हो गया। जीएसटी के लागू होने के साथ वैट, सेवा कर और केंद्रीय उत्पाद शुल्क जैसे केंद्र और राज्यों के दर्जनभर से अधिक टैक्स खत्म हो गए हैं। जम्मू-कश्मीर को छोड़कर देशभर में समान कर प्रणाली लागू कर दी गई है। साथ ही मोबाइल फोन, मोबाइल फोन के खास पुर्जों के अलावा कुछ इलेक्‍ट्रॉनिक सामानों पर 10% बेसिक कस्‍टम ड्यूटी (BCD) लगा दी है।


इससे इन सामानों को विदेशों से मंगाना महंगा हो जाएगा। सरकार ने इंटर मिनिस्‍ट्रीलियल कमिटी (IMC) बनाई थी। इस कमिटी में इलेक्‍ट्रोनिक्‍स एंड इनफोरमेशन टेक्‍नॉलाजी, डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स, डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्‍यूनिकेशन के अलावा डिपार्टमेंट ऑफ रेवेन्‍यू को शामिल किया गया था। कमिटी ने टेक्‍नॉलोजी एग्रीमेंट (आईटीए) में नहीं आने वाले आईटी और टेलीकॉम प्रोडक्‍ट पर कस्‍टम ड्यूटी को बढ़ाने की सिफारिश की थी।


सरकार ने कमिटी की सिफारिश पर इन सामानों पर 10% बेसिक कस्‍टम ड्यूटी लगा दी है। जिन सामानों पर यह ड्यूटी लागू होगी उनमें मोबाइल फोन, विशेष पुर्जे जैसे चार्जर, बैटरी, बायर हैंडसेट, माइक्रोफोन एंड रिसीवर और की-पैड शामिल हैं। इसके अलावा यूएसबी केबल समेत कई अन्‍य इलेक्‍ट्रॉनिक सामानों पर कस्‍टम ड्यूटी लगाई जाएगी।