अब तुरंत ऐसे आधार कॉर्ड पर मिलेगा ऐक्टिवेटेड सिम

नई दिल्ली 17 अगस्त: सरकार ने नए मोबाइल कनेक्शन के लिए आधार ई-केवाईसी की अनुमति दे दी है। अब आप अपने आधार कार्ड का इस्तेमाल कर तुरंत ऐक्टिवेशन के साथ मोबाइल कनेक्शन ले सकेंगे।

अब ग्राहकों को प्रीपेड या पोस्टपेड मोबाइल कनेक्शन के लिए अनेक तरह के कागजी दस्तावेजों की जरूरत नहीं होगी, बल्कि बिक्री केंद्र (पीओएस) पर आधार कार्ड एवं फिंगरप्रिंट से ही काम चल जाएगा। ई-केवाईसी में ग्राहक अपनी आधार संख्या एवं बायोमिट्रिक्स के जरिए यूआईडीएआई को अपना ब्योरा (नाम, पता, जन्म तिथि और लिंग के साथ-साथ डिजटली साइंड फोटोग्राफ) मोबाइल कंपनी को उपलब्ध कराने का अधिकार देता है।

अब सिम खरीदने के लिए कस्टमर अपना आधार नंबर सेलर को बताएगा। वह आधार नंबर से बायोमिट्रिक डिटेल्स (फिंगरप्रिंट या आयरिश) ले लेगा। उसके सिस्टम से कस्टमर के आधार के डीटेल्स सत्यापन (ऑथराइजेशन) के लिए टेलिकॉम ऑपरेटर के पास जाएंगे। विभाग डीटेल्स का सत्यापन कर सिम विक्रेता को ऑनलाइन फॉर्म भरने और ग्राहक के डीटेल्स वेरिफाइ करने को कहेगा।

विक्रेता को यह कन्फर्म करना होगा कि उसने कस्टमर को सामने से देखा है और ऑनलाइन फोटो का उसके चेहरे से मिलान कर चुका है। इस कन्फर्मेशन के बाद सेलर कस्टमर को सिम थमा देगा। देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल इसी सप्ताह से आधार कार्ड के इस्तेमाल वाली ई-केवाइसी सर्विस शुरू करने की योजना बना रही है।

सब रहेंगे फायदे में:

ग्राहक: नए नियम से ग्राहक को भी बड़ा फायदा होने वाला है। उसे तुरंत ऐक्टिवेटेड सिम तो मिलेगा ही, उसकी व्यक्तिगत सूचना भी गुप्त रहेगी।

कंपनियां: टेलिकॉम कंपनियों को फॉर्म को डिपार्टमेंट तक ढोकर नहीं पहुंचाना होगा। साथ ही डॉक्युमेंट्स की स्कैनिंग और उसके रख-रखाव का खर्च भी बचेगा।

पर्यावरण: इससे पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा। कागजों का खर्च कम होगा और गो ग्रीन अभियान को मजबूती मिलेगी।