IMF ने घटाया भारत का विकास दर, 2019 में बनेगा सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था

नई दिल्ली (10 अक्टूबर): अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष यानी IMF 2017 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटा दिया है। IMF के मुताबिक 2017 में भारत की विकास दर 6.7 फीसदी रहेगी। IMF का यह अनुमान उसके पहले लगाए गए अनुमानों से 0.5 फीसदी कम है।  IMF के मुताबिक नोटबंदी और जीएसटी के कारण भारत के विकास दर में गिरावट आएगी। 

वहीं IMF ने चीन के विकास दर में 6.8 फीसदी वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया है। इसके साथ ही IMF ने 2018 में भारत की वृद्धि दर का अनुमान भी अपने पहले के अनुमान से 0.3 प्रतिशत कम कर 7.4 प्रतिशत कर दिया है। IMF ने इससे पहले जुलाई और अप्रैल में आर्थिक वृद्धि के अनुमान जारी किए थे। भारत की वृद्धि दर 2016 में 7.1 प्रतिशत रही थी। हालांकि, यह वृद्धि आईएमएफ के अप्रैल के 6.8 प्रतिशत के अनुमान से अधिक रही।

IMF की रिपोर्ट के अनुसार 2018 में भारत दुनिया में सबसे तेज वृद्धि करने वाली उदीयमान अर्थव्यवस्था का दर्जा फिर हासिल कर सकता है, जबकि उस साल चीन की वृद्धि दर 6.5 प्रतिशत रहना अनुमानित है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जीएसटी उन कुछ प्रमुख ढांचागत सुधारों में से एक है, जिनसे मध्यम अवधि में वृद्धि दर बढ़कर आठ प्रतिशत करने में मददगार होंगे।