फिर सक्रिय हुआ लाल मस्जिद का कुख्यात इमाम, पाकिस्तान में लाना चाहता है खिलाफत

नई दिल्ली (29 सितंबर): आम नागरिकों के भारी विरोध और कई बार घर में नजरबंद किए जाने के बावजूद पाकिस्तान की कुख्यात लाल मस्जिद का सरगना एक बार फिर से अतिवादियों की नई जमात को तैयार करने में जुट गया है। इस्लामाबाद स्थित लाल मस्जिद में 10 साल पहले पड़े पाकिस्तानी सेना के छापे के बाद भी इस मस्जिद का इमाम अब्दुल अजीज प्रभावशाली है और वह एक बार फिर से देश में अतिवादी तत्वों की नई पीढ़ी को तैयार करने में जुट गया है। अब यह कुख्यात इमाम मदरसों में पाकिस्तान में 'खिलाफत' की स्थापना का संदेश दे रहा है। लाल मस्जिद में इमाम रहने के दौरान अब्दुल अजीज अपने भड़काऊ भाषणों, पश्चिमी देशों के खिलाफ जिहाद की वकालत और इस्लाम के कट्टरपंथी विचार के लिए जाना जाता है।