स्टैंडिंग काउंसिल में गया 'नेशनल मेडिकल कमीशन बिल 2017'

नई दिल्ली (2 जनवरी): 'नेशनल मेडिकल कमीशन बिल 2017' पर आज लोकसभा में चर्चा हुई। चर्चा के बाद इस बिल को स्टैंडिंग काउंसिल के पास भेजा गया है। इससे पहले इस बिल को शुक्रवार को लोकसभा में पेश किया गया था।

दरअसल इस बिल में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की जगह नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने का प्रावधान है। साथ ही इसमें MBBS करने वाले डॉक्टरों को प्रैक्टिस करने के लिए परीक्षा पास करना अनिवार्य करने का भी प्रवधान है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इस बिल को 'जन विरोधी और मरीज विरोधी' करार दिया है। IMA का कहना है कि यह कानून चिकित्सा पेशेवरों को नौकरशाही तथा गैर-चिकित्सकीय प्रशासनिक अधिकारियों के प्रति पूरी तरह जवाबदेह बनाकर उनके कामकाज को प्रभावित करेगा। साथ ही इनका कहना है कि एक तरफ यह विधेयक भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए लाया जा रहा है, जबकि इससे भ्रष्टाचार की बाढ़ आ जाएगी।