आपकी यात्रा को सुरक्षित बनाएगा रेलवे, ड्रोन से करेगा पटरियों की निगरानी

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 23 जून ): रेल हादसों को रोकने के लिए भारतीय रेलवे बड़ी योजना तैयार की है। अधिकतर पता चलता है पटरियों के टूटने या फिर ट्रैक में किसी बाधा के चलते रेल हादसा हुआ है। अब रेलवे ने रेल पटरियों की निगरानी के लिए ड्रोन तैनात करने का निर्णय लिया है जिससे कि किसी भी गड़बड़ी का तुरंत पता लगाया जा सके। गौरतलब है कि रेल हादसों को रोकने और यात्रियों की सुरक्षा पर रेलवे काफी सतर्क है।आईआईटी रुड़की ने टेलिकॉम इंडस्ट्री और रेलवे के प्रयास से ऐसे ही बनाए हैं, जो पटरियों की निगरानी में मदद कर सकते हैं। फिलहाल उत्तराखंड के रुड़की में ही इनकी टेस्टिंग की जा रही है। टेलिकॉम सेंटर ऑफ एक्सिलेंस के उप निदेशक अनुराग विभूति ने कहा, 'आईआईटी रुड़की की ओर तैयार किए गए ड्रोन्स को भारतीय रेलवे पटरियों की निगरानी के लिए तैनात करने की शुरुआती अवस्था में है।'देश में अकादमिक संस्थानों के साथ काम करने वाला टेलिकॉम सेंटर ऑफ एक्सिलेंस पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत चलता है। यह अकादमिक संस्थानों के साथ नई तकनीक को विकसित करने के लिए काम करता है। इसके मातहत ही भारतीय रेलवे की ब्रॉडबैंड सर्विस आर्म रेलटेल कॉर्पोरेशन ने आईआईटी रुड़की के साथ मिलकर यह ड्रोन तैयार किया है। इससे रेलवे ट्रैकों की ऑटोमेटिक मॉनिटरिंग हो सकेगी। फिलहाल इस काम में रेलवे को बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की तैनाती करनी पड़ती है।