फीस बढ़ोतरी के खिलाफ IIT खड़गपुर के छात्रों ने किया प्रदर्शन

नई दिल्ली (13 अप्रैल): मानव संसाधन मंत्रालय के आईआईटी की फीस में बढ़ोतरी करने के फैसले के विरोध में बड़ी संख्या में आईआईटी- खड़गपुर के छात्रों ने शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया। मंत्रालय ने आईआईटी की फीस 90,000 रुपए से 2 लाख करने का फैसला किया है। 

'इंडिया टुडे' की रिपोर्ट के मुताबिक, छात्रों ने पहले भी फीस बढ़ोतरी को लेकर चिंता जताई थी। लेकिन मंत्रालय ने उनकी मांगों पर कोई भी ध्यान नहीं दिया। अतुल आशुतोष अग्रवाल नाम के एक छात्र ने कहा, "फीस में अचानक बढ़ोतरी कई छात्रों पर भारी बोझ है। इस वजह से कई योग्य छात्रों का उत्साह कम होगा।"

आईआईटी खड़गपुर कैम्पस के छात्रों के विरोध के बाद रुड़की के छात्रों ने भी कैम्पस में इसी तरह का शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का फैसला किया है। हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने पहले ही यह साफ किया है, कि फीस बढ़ोतरी केवल नए छात्रों के लिए लागू होगी ना कि जो पहले से ही आईआईटी में पढ़ाई कर रहे हैं। 

मंत्रालय ने पिछले सप्ताह ही आईआईटी काउंसिल की स्टैंडिंग कमिटी के फीस बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। जिसमें फीस 90,000 से बढ़ाकर 2 लाख रुपए कर दी गई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईरानी ने पिछड़े वर्ग और विकलांग छात्रों के लिए ट्यूशन फीस में पूरी छूट देने का भी वादा किया है। फीस बढ़ोतरी के फैसले की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि अगर पहले फीस बढ़ाई गई होती तो वह कभी आईआईटी में नहीं पढ़ पाते।