हॉस्टल से बाहर भी रह सकेंगे IIT के छात्र, सीटों की संख्या होगी 1 लाख

नई दिल्ली (24 अगस्त): IIT में पढने वाले छात्र अब कैंपस से बाहर भी रह सकेंगे। उनके लिए हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करना अनिवार्य नहीं होगा। आने वाले समय में आईआईटी में छात्रों की संख्या को बढ़ाने के प्लान के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। IIT काउंसिल ने इस फैसले को हरी झंडी दिखाते हुए यह साफ कर दिया है कि अब छात्र कैंपस हॉस्टल से बाहर भी रह सकेंगे।

बता दें कि साल 2020 तक IIT में अंडर ग्रैजुएट, पीजी और पीएचडी की सीटें बढ़ाकर 1 लाख तक करने का विजन है। अभी अंडर ग्रैजुएट में करीब 10,500, पीजी में करीब 8 हजार और पीएचडी में करीब 3 हजार स्टूडेंट्स को कई IIT में ऐडमिशन मिल पाता है।