IIT मुंबई के छात्रों को लेकर हुआ ये खुलासा!

नई दिल्ली(4 मई): आईआईटी मुंबई कैंपस में हुए सर्वे में पाया गया कि 95 फीसदी नए छात्र वर्जिन हैं। सर्वे के मुताबिक 95 फीसदी नए छात्र का कहना है कि उन्होंने कभी सेक्स नहीं किया।

हालांकि 30 फीसदी छात्रों का कहना है कि वह रिलेशनशिप में रह चुके हैं। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक हार्वर्ड क्रिमसन फ्रेशमेन सर्वे से प्रेरित आईआईटी बॉम्बे के स्टूडेंट न्यूजपेपर ने एक सर्वे किया। इस सर्वे के जरिए आईआईटी के पवई कैंपस ने पहली बार फ्रेशर्स की लाइफस्टाइल और सोच के बारे में जानना चाहा और पाया कि ज्यादातर स्टूडेंट्स उदार विचार रखते हैं। कैंपस ने पाया कि छात्र राजनैतिक विचारों को लेकर ही उदार नहीं हैं बल्कि समलैंगिक रिश्तों को लेकर भी 75 फीसदी फ्रेशर्स कंफर्टेबल हैं। 

सर्वे में छात्रों के बैकग्राउंड, राजनैतिक और धार्मिक सोच, पोस्ट ग्रैजुएशन के बाद की योजनाओं आदि को आधार बनाया गया। इस सर्वे में जेईई के जरिए आईआईटी में दाखिला लेने वाले 875 में से 254 छात्रों ने हिस्सा लिया। इनसाइट के चीफ एडिटर श्रीयेश मेनन ने इस सर्वे पर कहा, 'यह सर्वे छात्रों को समझने के लिए किया गया, हमारे लिए यह जरूरी है ताकि हम जान सकें कि एक संस्थान के रूप में हम कहां जा रहे हैं।' उन्होंने आगे कहा, 'आईआईटी के छात्रों में काफी बदलाव आए हैं, 60 फीसदी धार्मिक क्रियाकलापों में भरोसा नहीं करते जबकि 30 फीसदी छात्र धार्मिक कार्यों में थोड़ा-बहुत विश्वास रखते हैं। लेकिन, जब ईश्वर की बात होती है तो 18 फीसदी नास्तिक हैं, 47 पर्सेंट आस्तिक तो 35 फीसदी अज्ञेयवादी हैं।' 

श्रीयेश ने बताया, स्मार्टफोन आज के छात्रों की जरूरत है और दिन में 1.5 घंटा सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर गुजारना उनकी प्राथमिकता की लिस्ट में काफी ऊपर है। पिछले साल सिंतबर से सर्वे की कवायद शुरू हो गई थी। करीब सात-आठ महीने की कवायद के बाद मंगलवार को सर्वे का परिणाम घोषित किया गया।