बच्चे ऑस्ट्रेलिया रहते हैं तो आपके लिए गुड न्यूज़

नई दिल्ली (26 जुलाई) :  आस्ट्रेलिया में रहने वाले भारतीयों के अभिभावकों को उनसे मिलने के लिए अब परेशान नहीं होना पड़ेगा। ना ही बार-बार वीजा के लिए आवेदन देना होगा। भारत में ऑस्ट्रेलिया की हाई कमिश्नर हरिंदर सिद्धू ने ये जानकारी दी है। भारतीय मूल की सिद्दू ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया  भारतीयों के लिए 3 साल का मल्टीपल एंट्री वीजा सिस्टम शुरू करने जा रहा है।

सिद्दू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारतीय अभिभावकों को आस्ट्रेलिया में रह रहे अपने बच्चों के साथ समय बिताने के लिए बार-बार वीजा के लिए आवेदन करना पड़ता था, लेकिन अब उनकी यह समस्याएं खत्म हो जाएंगी। साथ ही सिद्धू ने यह भी कहा कि उनका देश भारतीय छात्रों के लिए पहले से कहीं अधिक सुरक्षित बन गया है क्योंकि आस्ट्रेलिया की सरकार ने इस सिलसिले में कई कदम उठाए हैं और अब हालत यह है कि भारत से आस्ट्रेलिया में शिक्षा प्राप्त करने के ले छात्र यह कहते हैं कि वह खुद को भारत के मुकाबले आस्ट्रेलिया में अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं।

सिद्धू ने कहा कि भारत से आने वाले छात्रों के लिए अब एयरपोर्ट्स पर ही कांउसरल तैनात कर दिए गए हैं। ये उन्हें स्थानीय रीति रिवाजों की जानकारी देते हैं। साथ ही ये सलाह देते हैं कि उन्हें कहां रहना चाहिए और बसों इत्यादि से देर रात में सफर करने से बचना चाहिए।

2014 में 46,000 भारतीय छात्र ऑस्ट्रेलिया पहुंचे। यह संख्या 2015 में बढ़कर 53,000 हो गई। इस वर्ष यह आंकड़ा 60,000 पार कर जाने की आशा है। गत 10 वर्षों में आस्ट्रेलिया में भारतीयों की संख्या तीन गुना बढ़ी है।