'मुस्लिम देशों में 3 तलाक बंद तो भारत में क्यों नहीं'

नई दिल्ली (14 अक्टूबर): तीन तलाक को लेकर केंद्र सरकार के रुख का बचाव करते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सवाल उठाया है कि अगर मुस्लिम देशों में इसे रोका जा सकता है तो भारत में क्यों नहीं। उनकी यह टिप्पणी सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार के हलफनामे पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की आपत्ति के एक दिन बाद आई है।

कानून मंत्री ने कहा, पाकिस्तान, ट्यूनिशिया, मोरक्को, ईरान और मिस्र जैसे एक दर्जन से ज्यादा इस्लामी देशों ने तीन तलाक को नियंत्रित किया है। अगर इस्लामी देश कानून बनाकर इस परंपरा को बंद कर सकते हैं और यह शरिया के खिलाफ नहीं पाया जाता, तो यह भारत जैसे सेक्युलर देश में कैसे गलत हो सकता है। हालांकि प्रसाद ने समान नागरिक संहिता को लेकर पूछे गए सवाल पर टिप्पणी करने से इनकार किया। उन्होंने कहा, 'लॉ कमिशन इस पर विचार कर रहा है और समाज के विभिन्न तबकों से इस पर राय मांगी गई है। क्योंकि इस पर वे विचार कर रहे हैं, इसलिए मुझे इस पर कुछ नहीं कहना।'