Reliance Jio के कारण Idea को हुआ 385 करोड़ का घाटा

नई दिल्ली (13 फरवरी): जब से रिलायंस ने अपना 4जी जियो बाजार में उतारा है, तभी से दूसरी टेलीकॉम कंपनियों की हालत खराब है। मार्च 2007 की शुरुआत के बाद पहली बार Idea को तिमाही नतीजों में घाटे का सामना करना पड़ा है। कंपनी को अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 385 करोड़ रुपए का घाटा हुआ। जबकि, जुलाई-सितंबर तिमाही में आइडिया सेल्युलर को 91.5 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था।

वित्त वर्ष 2016-17 की तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर के दौरान आइडिया सेल्युलर की आय 6.9 फीसदी घटकर 8662.7 करोड़ रुपए रह गई है। जबकि, जुलाई-सितंबर के दौरान आइडिया सेल्युलर की आय 9300.2 करोड़ रुपए थी।

आय में आई 7 फीसदी की गिरावट...

- तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में आइडिया सेल्युलर का एबिटडा मार्जिन 26 फीसदी से घटकर 25 फीसदी रहा है।

- तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में आइडिया सेल्युलर प्रति मिनट वॉल्यूम रेट 33.1 पैसे से घटकर 29 पैसे रहा है।

- तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में आइडिया सेल्युलर का वॉल्यूम 195.5 अरब मिनट से बढ़कर 210 अरब मिनट रहा है।

ग्राहकों की संख्या में भी आई गिरावट...

- तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में आइडिया सेल्युलर के कुल डाटा सब्सक्राइबर की संख्या 5.41 करोड़ से घटकर 4.6 करोड़ रही है।

- तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में आइडिया सेल्युलर की प्रति ग्राहक औसतन आय 130 रुपये से घटकर 111 रुपये रही है।