ऐसे टीम इंडिया बन जाएगी नंबर-1 टी-20 टीम

नई दिल्ली(24 जनवरी): ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज हारने के बाद टीम इंडिया के पास 26 जनवरी से शुरू हो रहे टी-20 सीरीज में इस हार का बदला लेने का मौका है। टीम इंडिया टी-20 सीरीज में अगर क्लीन स्वीप कर लेती है तो वो टी-20 की नंबर-1 टीम बन जाएगी।

टीम इंडिया अगर तीनों मैच जीतती है तो उसके मौजूदा 110 प्वॉइंट के बजाय 120 प्वॉइंट हो जाएंगे और वह रैंकिंग में टॉप पर पहुंच जाएगी। ऑस्ट्रेलिया के ऐसी स्थिति में 118 के बजाय 110 प्वॉइंट रह जाएंगे और वह आठवें स्थान पर खिसक जाएगा। अगर भारत 2-1 से जीत दर्ज करता है तो ऑस्ट्रेलिया छठे नंबर पर खिसक जाएगा और भारत सातवें नंबर पर रहेगा। भारत अभी आठवें नंबर पर है जबकि ऑस्ट्रेलिया दूसरे नंबर पर है। वेस्टइंडीज और श्रीलंका के भी ऑस्ट्रेलिया के बराबर 118 प्वॉइंट हैं लेकिन कैरेबियाई टीम दशमलव की गणना में पहले और श्रीलंका तीसरे स्थान पर है।

दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया को टॉप पर पहुंचने के लिए केवल सीरीज में जीत की दरकार है। अगर ऑस्ट्रेलिया 2-1 से जीत दर्ज करता है तो उसके 120 प्वॉइंट हो जाएंगे जबकि 3-0 से जीत से ऑस्ट्रेलिया के 124 और भारत के 103 प्वॉइंट रह जाएंगे।

भारत अगर हारता है तब भी आठवें नंबर पर बने रहेगा क्योंकि नौवें नंबर की टीम अफगानिस्तान के 80 प्वॉइंट हैं। इस बीच न्यूजीलैंड दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान को पीछे छोड़कर पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। पाकिस्तान के खिलाफ 2-1 की जीत से न्यूजीलैंड को दो प्वॉइंट मिले जबकि पाकिस्तान को एक प्वॉइंट का नुकसान हुआ।

इसके उलट बांग्लादेश स्कॉटलैंड से पीछे 11वें स्थान पर खिसक गया है। उसने जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज 2-2 से बराबर कराईइ थी। जिम्बाब्वे को चार प्वॉइंट मिले और वह 14वें स्थान पर बना हुआ है। टॉप पर काबिज वेस्टइंडीज और आठवें नंबर के भारत के बीच केवल आठ प्वॉइंट्स का अंतर है और ऐसे में मार्च-अप्रैल में होने वाली आईसीसी टी-20 चैंपियनशिप में कोई भी टॉप पर काबिज टीम चैंपियन बन सकती है।

आईसीसी टी-20 खिलाड़ियों की रैंकिंग में विराट कोहली टॉप 10 में शामिल अकेले बल्लेबाज हैं। वह ऑस्ट्रेलिया के एरोन फिंच (854 प्वॉइंट) के बाद दूसरे स्थान पर हैं। कोहली के 845 प्वॉइंट हैं। आर अश्विन ने भी 681 प्वॉइंट के साथ गेंदबाजों की लिस्ट में अपना दूसरा स्थान बनाए रखा है। वेस्टइंडीज के सैमुअल बद्री (751 प्वॉइंट) टॉप पर काबिज हैं