भारत-पाकिस्तान को एक ग्रुप में क्यों रखा जाता है, ICC ने खोला बड़ा राज़

लंदन (2 जून) :  इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी)ने स्वीकार किया है कि वर्ल्ड इवेंट्स में भारत और पाकिस्तान को जानबूझकर एक ही ग्रुप में रखा जाता है। आईसीसी के मुताबिक टूर्नामेंट्स को कामयाब बनाने के लिए ऐसा किया जाना बहुत महत्व रखता है।  

बता दें कि अगले साल इंग्लैंड में होने वाली चैंपियंस ट्राफी में भी भारत और पाकिस्तान को एक ग्रुप में रखा गया है। ऐसे में चैंपियंस ट्रॉफी में लगातार पांचवी बार भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला होगा।

'द टेलीग्राफ' की रिपोर्ट के मुताबिक आईसीसी के चीफ एक्जेक्यूटिव डेव रिचर्डसन ने कहा, "निसंदेह हम चाहते हैं कि हमारे इवेंट में भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबला हो। आईसीसी के दृष्टिकोण से ये बहुत महत्वपूर्ण है।  इस मुकाबले को देखने के शौकीन पूरी दुनिया में हैं। ये टूर्नामेंट के लिए बहुत अच्छा साबित होता है।"

रिचर्डसन ने इस बात से इनकार किया कि भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार मुकाबलों से आईसीसी इवेंट्स की निष्पक्षता पर असर पड़ता है। रिचर्डसन ने कहा, "हम क्या कोशिश करते हैं कि ये सुनिश्चित किया जा सके कि जब अलग अलग ग्रुप की रैंकिंग्स को जोड़ा जाए तो समान नंबर आए। ऐसा करने के कई तरीके हैं। जब तक पूल्स संतुलित रखे जा सकते हैं तो ये मूर्खतापूर्ण होगा कि बहुप्रतीक्षित मुकाबले (भारत-पाक) को टाला जाए, जबकि आप निष्पक्षता से ऐसा कराने में सक्षम हैं।"  

बता दें कि आठ टीमों के चैंपियंस ट्राफी का कार्यक्रम बुधवार को ही घोषित किया गया है। ये टूर्नामेंट 1 से 18 जून तक चलेगा। भारत और पाकिस्तान को ग्रुप बी में रखा गया है। इन दोनों के बीच मुकाबला 4 जून को एजबेस्टन, बर्मिंघम में होगा।