IAS टॉपर टीना डाबी को हाथ लगी निराशा, नहीं मिला मनचाहा कैडर

नई दिल्ली (26 जुलाई): यूपीएससी 2015 की टॉपर टीना डाबी को अपनी पसंद का कैडर नहीं मिला। डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (DoPT) ने अपना वैकेंसी चार्ट जारी कर दिया है। इसके मुताबिक टीना को राजस्थान कैडर मिला है, जबकि वो हरियाणा कैडर चाह रही थीं।

- टीना ने यूपीएससी की सिलेक्शन प्रॉसेस के दौरान हरियाणा कैडर को प्रेफरेंस दिया था। - टीना के मुताबिक, ''मैंने हरियाणा इसलिए चुना, क्योंकि वहां का एग्जाम्पल इंटरेस्टिंग है। वहां इकोनॉमिक प्रोग्रेस काफी हुई है, लेकिन जब बात सोशल इंडीकेटर्स की आती है तो हरियाणा पिछड़ जाता है।'' - ''हरियाणा जेंडर इनइक्वलिटी के चलते पिछड़ जाता है। यह ऐसा मुद्दा है जो मेरे दिल के करीब है। मैं बराबरी चाहती हूं। मैं एक प्रोग्रेसिव फैमिली की महिला हूं और महिला-पुरुष के बीच बराबरी को बढ़ावा देने वाले कॉलेज से पढ़ी हूं, तो हरियाणा की महिलाओं के लिए भी कुछ करना चाहती हूं।'' - बताया जा रहा है कि डाबी को उनका मनपसंद कैडर न मिलने वजह हरियाणा में सिर्फ दो वैकेंसीज ही थीं और दोनों ही ST कैंडिडेट्स के लिए थीं जबकि डाबी SC कैटेगरी से हैं।

हाई रैंक कैंडिडेट को मिलता है पसंद का कैडर - हाई रैंक वाले कैंडिडेट्स को उनका मनपसंद कैडर दिया जाता है, लेकिन जरूरी नहीं कि हर बार ही ऐसा हो। - जानकारों के मुताबिक कैडर का एलोकेशन (स्टेट, छोटे स्टेट और यूनियन टेरिटरीज) एक पेंचीदा मामला है। यह सिर्फ कैंडिडेट्स के रैंक पर डिपेंड नहीं करता। - वैकेंसी, कोटा, कैंडिडेट्स का उसी स्टेट से होना या बाहरी होना जैसे कई मुद्दे हैं, जिनके आधार पर कैडर दिया जाता है।