ड्रग्स रैकिट चला रहा वायुसेना अफसर गिरफ्तार

नई दिल्ली(5 अक्टूबर): हाल के समय के सबसे बड़े इंटरनैशनल ड्रग्स रैकिट की जांच करते हुए नॉर्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने वायुसेना के एक कार्यरत विंग कमांडर को गिरफ्तार किया है। कुछ और अफसरों पर भी ड्रग्स बनाने और उनकी आपूर्ति के धंधे में शामिल होने का शक है। 

- सोमवार रात को NCB की सूचना पर महाराष्ट्र की नांदेड़ पुलिस ने विंग कमांडर को गिरफ्तार किया। उस समय वह गोवा भागने की कोशिश कर रहा था।

- गिरफ्तार किए गए वायुसेना अफसर का नाम राजशेखर रेड्डी बताया है। वह दिल्ली में वेस्टर्न एयर कमांड में तैनात था। वह बेंगलुरु में लंबे समय तक तैनात रहा था। 

- एक वेबसाइट के मुताबिक वह हैदराबाद और बेंगलुरु में पकड़े गए ड्रग्स तस्करी रैकिट का मास्टरमांइड था। इस रैकिट में वैज्ञानिक वेंकट रमा राव और उसकी पत्नी को भी सोमवार को 231 किलोग्राम एंफिटेमिन के साथ गिरफ्तार किया गया था। 

- अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस ड्रग्स की कीमत 231 करोड़ रुपये है। वेंकट और रवि शंकर राव के एक अन्य शख्स के जरिए रेड्डी ड्रग्स को हैदराबाद में तैयार कराता था।

- वेबसाइट के हवाले से एक सूत्र ने बताया, 'रेड्डी इस रैकिट का मुख्य सदस्य है जो एंफिटेमिन का मलयेशिया, थाइलैंड, इंडोनेशिया और पश्चिमी देशों में सप्लाई करता था।' वायुसेना के कुछ और अफसरों पर भी इस रैकिट में शामिल होने का संदेह है। हालांकि पूरे मामले में वायुसेना ने कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है।

- शक है कि रेड्डी तमाम इलाकों के वितरकों के संपर्क में था और दिल्ली में तैनाती के बावजूद अक्सर हैदराबाद की यात्रा किया करता था। अब NCB उसके सर्विस रेकॉर्ड की जांच करेगी। इसके अलावा पिछले सालों में उसकी गतिविधियों और कॉल डीटेल की भी जांच की जाएगी।