चीन की चाल को नाकाम करने के लिए भारत ने तैनात किए सुपर हरक्यूलिस विमान

नई दिल्ली ( 24 अगस्त ): सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में भारत और चीन के बीच 2 महीने से तनाव जारी है। बढ़ते तनाव के बीच भारतीय वायु सेना किसी भी तरह के हालात से निपटने के लिए अपनी ताकत बढ़ा रही है। डोकलाम को लेकर बढ़ते गतिरोध के बीच वायु सेना ने पश्चिम बंगाल में कोलकाता से करीब 150 किलोमीटर दूर पनागढ़ स्थित अर्जन सिंह एयर पोर्ट स्टेशन पर C-130J सुपर हरक्यूलिस विमान तैनात किए हैं। 

गाजियाबाद में हिंडन के बाद देश में पनागढ़ दूसरी जगह है जहां C-130J सुपर हरक्यूलिस विमान का बेस है। लॉकहीड मार्टिन के टेक्नीशियन्स और इंजिनियर्स ने इन विमानों के लिए पनागढ़ में हैंगर और अन्य सुविधाओं का निर्माण किया है। एक वरिष्ठ आईएएफ अधिकारी के मुताबिक पूर्वी एयर कमान (ईएसी) का ताकत बढ़ाने के लिए सुखोई एसयू -30 एमकेआई और इलुशिन आईएल -78 के मिड-एयर रिफ्यूलर भी पनागढ़ एयर बेस पर मौजूद हैं।

यह एयरबेस जुलाई के आखिरी सप्ताह में, अपने सभी छह C-130J सुपर हरक्यूलिस स्ट्रैटजिक विमानों के साथ शुरू कर दिया गया था। 

गौरतलब है कि डोकलाम को लेकर चीन के साथ गतिरोध इससे एक महीने पहले शुरू हुआ है। एक अन्य वायुसेना अधिकारी ने बताया कि C-130J सुपर हरक्यूलिस केवल परिवहन विमान नहीं है, यह अपनी क्लास में सबसे ज्यादा ताकतवर और नवीनतम तकनीक से लैस हथियारों वाला एयरक्राफ्ट है। 

इसकी एक और खासियत यह है कि यह चीन के साथ लगी नियंत्रण रेखा पर आसानी से निगरानी और कार्रवाई कर सकता है, जहां रनवे छोटे होने की वजह से विमानों के लिए उड़ान भरना आसान नहीं होता।