अकरम-युनूस नहीं इस भारतीय गेंदबाज की गेंदों से डरते थे एडम गिलक्रिस्ट

नई दिल्ली(9 अप्रैल): ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने कहा कि वह श्रीलंका के महान स्पिनर मुथया मुरलीधरन और भारत के हरभजन सिंह की गेंदों से डरते थे। मैं मुरली की उंगलियों की मूवमेंट से कभी गेंद को भांप नहीं पाता था। उसके सामने मुझे हमेशा लगता था कि मैं दस साल का बच्चा हूं।

उन्होंने कहा कि जब भी मुझे शक होता था, मैं स्वीप शाट खेलता था। एक टेस्ट पारी में यही सोचकर मैं उतरा। पहली गेंद पर स्वीप करके चौका लगाया। दूसरी गेंद पर भी स्वीप शाट खेला और कैच आउट हो गया। अगले मैच में भी मुरली के खिलाफ पहली गेंद पर स्वीप शाट खेला और दूसरी पर पगबाधा आउट हो गया।

उन्होंने बताया कि उनके पूर्व साथी खिलाड़ी माइक हस्सी भी मुरली के सामने उतने ही असहज थे। उन्होंने कहा  कि यदि माइक को मैदान पर उतरकर मुरली का सामना करना होता था तो मैं उसकी खिंचाई करके उसे नर्वस कर देता था। मेरी बारी होती थी तो वह ऐसा करता था। यह पूछने पर कि संन्यास के बाद भी वह फिट कैसे रहते हैं, गिलक्रिस्ट ने कहा  कि मैने कभी डाइट चार्ट का अनुसरण नहीं किया। मैं सीफूड डाइट लेता था।