चैरिटी डिनर में शामिल हुए कोहली, बताया अपनी सफलता का राज

नई दिल्ली (27 मई): आईपीएल में धमाल मचाने वाले टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी विराट कोहली ने कहा कि मैच दर मैच कुछ बेहतर करने की भूख उन्हें प्रोत्साहित करती है। कोहली ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया, 'प्रत्येक दिन मेरे लिए नया दिन होता है। मैं हमेशा महसूस करता हूं कि मेरे पास कुछ बेहतर करने का मौका है और हर मैच के बाद अपनी खामियों और खूबियों को परखता हूं। इसके बाद मैं अपने खेल में सुधार कर पाता हूं। इसके लिए कड़ी मेहनत और अनुशासन के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं है।'

बता दें कि कोहली ने इस टूर्नामेंट के 15 मैचों में 83.54 की शानदार औसत से धमाकेदार 919 रन बना चुके हैं। इसी के साथ वो किसी भी आईपीएल सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। यही नहीं एक आईपीएल टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा चार शतक लगाकर वर्ल्ड रिकार्ड बनाया है।

अपनी एकाग्रता के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, 'मैं भी वैसे ही आया जैसे और क्रिकेटर आते हैं। एंट्री के बाद अपनी जगह को लेकर असुरक्षित महसूस कर रहे होते हैं और हताशा में कई बार गलतियां कर बैठते हैं। वह सही मायने में अच्छा करना चाहते हैं और न तो मैदान पर और न ही मैदान के बाहर खुद को नियंत्रित नहीं कर पाते हैं।'

अपने गुस्से के बारे में कोहली ने कहा, 'आप एंट्री के बाद समय गुजरता है, आप सेट होते हो और फिर लगातार मेहतन के बाद अपने गेम को बदलते हो। जो कि आपको टॉप पर पहुंचाने में मदद करता है।

अपने आईपीएल मैच से पहले कोहली ने स्माइल फाउंडेशन के साथ मिलकर एक चैरिटी डिनर का आयोजन किया। उन्होंने महसूस किया कि उन्हें अधिकारों से वंचित बच्चों और युवाओं के लिए कुछ करना चाहिए। कोहली ने कहा, 'मैं एक ऐसे बैकग्राउंड से आता हूं जहां चैरिटी के महत्व को समझा जाता है। मैं शुरू से ही कुछ ऐसा शुरू करना चाहता था जिससे समाज को कुछ दे सकूं और मेरे पास समय है कि मैं आगे आकर युवाओं और बच्चों के सशक्तिकरण को सपोर्ट करूं।'