जयललिता ने अस्पताल से जारी किया बयान, कहा- मेरा पुनर्जन्म हुआ है

नई दिल्ली ( 14 नवंबर ) : तबीयत खराब होने के कारण पिछले 50 दिनों से अस्पताल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने पहली बार बयान जार कहा कि 'मेरा पुनर्जन्‍म हुआ है'। साथ ही उन्‍होंने तबीयत में सुधार के लिए लोगों के प्रति आभार जताया।

इस पत्र में जयललिता ने कहा, 'तमिलनाडु, दूसरे राज्‍यों और बाकी दुनिया के लोगों की लगातार प्रार्थनाओं की बदौलत, मेरा पुनर्जन्‍म हुआ है और मैं इस जानकारी को खुशी-खुशी आपके साथ साझा करना चाहती हूं। जयललिता का यह पत्र दो पन्‍नों का है और इसे पार्टी हेडक्‍वॉर्टर की तरफ से पार्टी की महासचिव और मुख्‍यमंत्री जयललिता के नाम से जारी किया गया।

इसमें जया ने अपनी सेहत की जानकारी देने के अलावा तंजौर, अरावाकुरिची और तिरुपारनकुंद्रम के वोटरों से अपनी पार्टी को वोट देने की अपील की। उन्‍होंने कहा, 'मैं इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों से पार्टी की जीत के समाचार का इंतजार कर रही हूं। जब मुझे आप लोगों का प्‍यार और स्‍नेह मिलता है तो मैं खुश होती हूं और जल्‍द ही मैं पूरी तरह ठीक हो जाऊंगी और फिर से काम करना शुरू कर दूंगी।

पत्र में जया ने कहा, मैं उन पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति संवेदना जाहिर करती हूं जिन्‍होंने मेरे अस्पताल में भर्ती होने के बाद आत्‍महत्‍या कर ली। पार्टी के भविष्‍य और विकास के लिए मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं की जरूरत है। हालांकि, मैं पार्टी काडरों और इन तीन निर्वाचन क्षेत्रों के वोटरों से मिल नहीं सकती, लेकिन मेरा मन और दिल हमेशा उनके साथ रहेगा।

जयललिता ने पार्टी कार्यकर्ताओं को सलाह दी कि वे इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी की जीत के लिए काम करें। जया ने कहा, 'इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों में हर पार्टी कार्यकर्ता को यह सोचना चाहिए कि पार्टी की जीत, उनकी अपनी जीत है। इन जगहों पर पार्टी के सभी उम्‍मीदवारों को बड़े अंतर से जीत हासिल करनी चाहिए।

बता दें कि जयललिता को 'बुखार और डिहाइड्रेशन (शरीर में पानी की कमी)' की शिकायत के बाद 22 सितंबर को चेन्‍नई के अपोलो अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्‍हें रेस्‍परटोरी सपोर्ट पर रखा गया था और फेफड़ों में समस्‍या को लेकर उनका इलाज किया गया था।