बोले पीएम मोदी, कोई मेरा रिश्तेदार नहीं, भ्रष्टाचार से नहीं होगा समझौता

नई दिल्ली ( 25 सितंबर ): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर तल्ख तेवर अपनाए हैं। दिल्ली में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के दूसरे दिन उन्होंने साफ कहा कि सरकार भ्रष्टाचार की लड़ाई में किसी तरह का समझौता नहीं करेगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम के बयान को मीडिया के सामने रखा। 

पीएम ने कहा, 'भष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। जो कोई भी इसमें पकड़ा जाएगा वो बचेगा नहीं।' जेटली ने बताया कि पीएम मोदी ने इसे लेकर एक वाक्य का इस्तेमाल भी किया। जिसमें उन्होंने कहा कि 'मेरा कोई रिश्तेदार नहीं।'

जेटली ने बताया कि पीएम ने विपक्ष का दो संदर्भों में जिक्र किया, जब वे (विपक्षी दल) सत्ता में थे तो सत्ता उनके लिए उपभोग थी, इसलिए विपक्ष में कैसे रहना है, यह उनके समझ में नहीं आ रहा है। विपक्ष बहुत तीखे शब्दों का इस्तेमाल कर रहा है।

पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि बिना जन भागीदारी के कोई योजना सफल नहीं हो सकती। चुनाव तीन साल में होगा या 5 साल में, इसका इंतजार मत करिए। जनता के बीच रहिए। सत्ता सुख के लिए नहीं, बल्कि सेवा के लिए है।

केंद्र सरकार की योजनाओं को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना हो या मुद्रा योजना इनसे संतुष्टि मिलती है, क्योंकि इससे गरीबों का कल्याण हो रहा है।

पीएम ने यह भी कहा कि देश ने भाजपा में विश्वास दिखाया है। देश की जनता भविष्य के लिए भाजपा को देख रही है। चुनाव जीतना एकमात्र लक्ष्य नहीं है। हमारा पूरा प्रयास रहेगा कि हम 2019 में भी सफल रहें। इसके अलावा जेटली ने जानकारी दी कि कार्यकारिणी में 13 मुख्यमंत्री, 6 उपमुख्यमंत्री, दोनों सदनों के 334 सांसद शामिल हुए हैं।