सऊदी अरब में एम्प्लॉयर के जुल्म की शिकार भारतीय महिला ने दम तोड़ा

नई दिल्ली (9 मई): हैदराबाद की रहने वाली एक 25 वर्षीय महिला ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। यह महिला सऊदी अरब में घरेलू मेड के तौर पर काम कर रही थी। उसे काम देने वालों ने ही उसपर जुल्म किया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस महिला का नाम असिमा खातूनहै। असिमा का परिवार उसके शव को वापस घर लाने के लिए इंतजार कर रहा है। वह दिसंबर में रियाद चली गई थी। उसकी मां ने बताया कि उसने गोपनीय ढंग से कॉल करके उसे बताया था कि उसे बंधक बनाकर रखा गया। इसके अलावा उसे जलाया गया और मानसिक रूप से प्रताड़ित भी किया। एम्लॉयर की पहचान अब्दुल रहमान अली मोहम्मद के नाम से हुई है।

गोशिया खातून ने बताया, "मैंने अपनी बेटी को काम कर पैसे कमाने के लिए विदेश भेजा था। मेरी बेटी जैसे ही वहां पहुंची, उसे एक कमरे में बंद कर दिया गया। उसे खाने को खाना तक नहीं दिया गया। उन्होंने उसे बंधक बनाकर रखा और केवल शाम के वक्त ही दरवाजा खुलता था। मेरी बेटी मुझे कॉल पर रोया करती थी।"

विदेश मंत्रालय ने रियाद के मिशन से घटना की जानकारी देने के लिए कहा है। असिमा से एक अस्पताल में नौकरी का वादा किया गया था। कुछ दलालों के जरिए ऐसा कहा गया, जिसके बहकावे में आकर वह रियाद गई थी।