IPL-9: कोहली को मिली ऑरेंज कैप, इस गेंदबाज को पर्पल कैप

नई दिल्ली(30 मई): रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के कप्तान विराट कोहली ने रिकॉर्ड 973 रन बनाकर आईपीएल-9 में ओरेंज कैप हासिल की जबकि सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार पर्पल कैप हासिल करने में सफल रहे। कोहली 2008 से आईपीएल खेल रहे हैं लेकिन पहली बार उन्होंने किसी एक टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाए जिसके लिए ‘ओरेंज कैप’ दी जाती है। वह हालांकि एक सत्र में 1000 रन बनाने का अनोखा रिकॉर्ड पूरा करने से चूक गए लेकिन उन्होंने शुरू से लेकर आखिर तक लाजवाब बल्लेबाजी की।

कोहली 16 पारियों में चार शतक और सात अर्धशतक भी लगाए। उनका औसत 81.08 जबकि स्ट्राइक रेट 152.03 रहा। सनराइजर्स के कप्तान डेविड वॉर्नर 17 मैचों में 848 रन बनाकर दूसरे जबकि कोहली के साथी एबी डिविलियर्स 16 मैचों में 687 रन बनाकर तीसरे स्थान पर रहे।गेंदबाजों में सर्वाधिक विकेट भुवनेश्वर ने लिए। उन्होंने 17 मैचों में 23 विकेट हासिल किए और इसलिए उन्हें ‘पर्पल कैप’ मिली जो एक सत्र में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज को दी जाती है। आरसीबी के यजुवेंद्र चहल (21 विकेट) दूसरे और शेन वाटसन (20 विकेट) तीसरे स्थान पर रहे।

इससे पहले बेन कटिंग के ऑलराउंड खेल और गेंदबाजों की सही समय पर दिलाई गई शानदार वापसी से सनराइजर्स हैदराबाद ने क्रिस गेल के तूफान के सामने कुछ विषल पलों से गुजरने के बावजूद रविवार को बड़े स्कोर वाले फाइनल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर को आठ रन से हराकर पहली बार आईपीएल चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया।

सनराइजर्स ने खेल के हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन किया, लेकिन फिर से उसके गेंदबाजों का प्रदर्शन निर्णायक साबित हुआ क्योंकि एक समय गेल के 38 गेंदों पर चार चौकों और आठ छक्कों की मदद से बनाए गए 76 रन और कोहली ( 54 ) के एक और अर्धशतक से आरसीबी तेजी से जीत की तरफ बढ़ रहा था। आरसीबी का स्कोर 13वें ओवर में एक समय एक विकेट पर 140 रन था, लेकिन इसके बाद सनराइजर्स के गेंदबाजों ने शिकंजा कसा और आखिर में कोहली की टीम को सात विकेट पर 200 रन तक ही पहुंचने दिया।इससे पहले सनराइजर्स ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए डेविड वार्नर, कटिंग और युवराज सिंह के प्रयासों से सात विकेट पर 208 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया था। कप्तान वार्नर ने 38 गेंदों पर आठ चौकों और तीन छक्कों की मदद से 69 रन बनाए। कटिंग ने 15 गेंदों पर नाबाद 39 रन बनाए, जिसमें तीन चौके और चार छक्के शामिल हैं।

युवराज ने 23 गेंदों पर 38 रन की दमदार पारी खेली। सनराइजर्स पहली ऐसी टीम बन गयी है जिसने लगातान तीन प्लेआफ जीतकर खिताब अपने नाम किया। उसने एलिमिनिटेर में कोलकाता नाइटराइडर्स और फिर दूसरे क्वालीफायर में गुजरात लायंस को हराया था। सनराइजर्स के गेंदबाजों की तारीफ करनी होगी। टूर्नामेंट में सर्वाधिक 23 विकेट लेने वाले भुवनेश्वर कुमार को आज भले ही कोई विकेट नहीं मिला, लेकिन उनकी 13 गेंदों पर रन नहीं बने। उन्होंने चार ओवर में केवल 25 रन दिए। कटिंग ने 25 रन देकर दो विकेट लिए।

गेल ने बरिंदर सरां को शुरू में निशाने पर रखा और इस तेज गेंदबाज के पहले दो ओवरों में तीन गगनदायी छक्के लगाए। कटिंग का स्वागत उन्होंने छक्के और चौके से किया और जब मोएजेस हेनरिक्स ने गेंद थामी तो लांग आन पर सीधा छक्का जड़कर 25 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया। हेनरिक्स के अगले ओवर में उन्होंने लगातार दो चौके और छक्के जड़कर उनके हताश कर दिया।

आखिर में कटिंग की गेंद पर उन्होंने थर्डमैन पर हवा में लहराता कैच थमाया। कोहली ने रणनीतिक बल्लेबाजी। उन्होंने वार्नर के तुरूप के इक्के मुस्तफिजुर रहमान को निशाना बनाया जिससे सनराइजर्स की टीम पर दबाव बनना स्वाभाविक था।आरसीबी कप्तान ने सरां पर छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इसी ओवर में उनकी गिल्लियां बिखर गई, जिससे उनका एक सत्र में 1000 रन पूरे करने का सपना अधूरा रह गया। कोहली ने 16 मैचों में 973 रन बनाए। बिपुल शर्मा ने अगले ओवर में एबी डिविलियर्स ( पांच ) को आउट करके सनराइजर्स की कुछ उम्मीदें जगाई। केएल राहुल ( 11) भी नहीं चल पाए। कटिंग ने उनका ऑफ स्टंप थर्राया।

उम्मीद थी कि वाटसन गेंदबाजी की अपनी कमी की यहां भरपाई करेंगे, लेकिन वह भी 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। स्टुअर्ट बिन्नी ( नौ ) ने मुस्तफिजुर के इस ओवर में छक्का जड़कर आरसीबी खेमे में कुछ जोश भरा लेकिन आखिरी दो ओवर में 30 रन बनाना आसान नहीं था। ऐसे में बिन्नी रन आउट हो गए। सचिन बेबी ने मुस्तफिजुर की गेंद छह रन के लिए भेजी जिससे अंतिम ओवर में 18 रन का लक्ष्य रह गया था और भुवनेश्वर ने नौ रन देकर अपनी टीम को जीत दिलाई।