सरकार के सख्त रुख से घबराये हुर्रियत नेता, बोले बात-चीत के खिलाफ नहीं

नई दिल्ली (8 सितंबर): दुनिया भर के सामने पोल खुल जाने और सरकार के सख्ती के संकेत से घबराये हुर्रियत नेता अब कह रहे हैं कि वो बात-चीत के खिलाफ नहीं हैं। हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के नेता सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि वह बातचीत के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन वह ऐसे किसी निरर्थक प्रयास में भाग नहीं लेंगे जिसका मकसद कश्मीर मुददे का समाधान करना नहीं है।

गिलानी ने कहा कि कश्मीर मुद्दे को बातचीत के जरिए हल करने की जरूरत है। ध्यान रहे जब सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल चार सांसद गिलानी से मिलने और बातचीत करने के लिए उनके आवास पर गए तो उन्होंने मुलाकात करने से इंकार कर दिया था। इस पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दुनिया के सामने हुर्रियत नेताओं की करनी और कथनी को दुनिया के सामने रखा था और कहा था कि हुर्रियत को जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत किसी पर भरोसा नहीं है।