जानकर चौंक जाएंगे आप, हमेशा नौजवान रहती हैं यहां की औरतें...

नई दिल्ली : भले ही वैज्ञानिक इंसान को हमेशा नौजवान दिखने के लिए शोध में लगे हों, लेकिन पाकिस्तान में हुंजा कम्युनिटी कि इसकी महिलाएं 80 साल में भी 30-40 साल जैसी दिखाई देती हैं। ये कम्युनिटी उत्तरी पाकिस्तान की कराकोरम पहाड़ियों में हुंजा घाटी नाम से चर्चित जगह पर रहती है।

यह है खासियत: - हुंजा कम्युनिटी के लोग फिजिकली और मेंटली बहुत स्ट्रॉन्ग होते हैं। - एक ओर इनकी औरतें बूढ़ी होने पर भी जवान दिखती हैं, वहीं इनके मर्द 90 साल में भी पिता बन सकते हैं। - इनकी लाइफस्टाइल ही इनके लंबे जीवन का रहस्य है। ये लोग सुबह 5 बजे उठ जाते हैं। ये लोग पैदल बहुत घूमते हैं। - कहा जाता है कि ये लोग दिन में केवल दो बार ही खाना खाते हैं। पहली बार वो दिन में 12 बजे खाना खाते हैं और फिर रात को। - इनका खाना पूरी तरह नेचुरल होता है। इसमें किसी तरह का कैमिकल नहीं मिलाया जाता। - इनका दूध, फल, मक्खन सब चीजें प्योर होती हैं। गार्डन में पेस्टिसाइड स्प्रे करना इस कम्युनिटी में बैन है। - ये खासतौर पर जौ, बाजरा, कुट्टू और गेहूं खाते हैं। इनके अलावा आलू, मटर, गाजर, शलजम, दूध जैसी चीजें भी ये बहुत खाते हैं। - ये कम्युनिटी मांस बहुत कम खाती है। किसी खास मौके पर ही मांस पकता है, लेकिन उसमें भी पीस बहुत छोटे-छोटे होते हैं। - इस तरह की लाइफ स्टाइल की वजह से इन्हें कैंसर जैसी बीमारी कभी नहीं होती।

अलेक्जेंडर द ग्रेट की सेना के वंशज: - इस कम्युनिटी के लोगों को बुरुशो भी कहते हैं। इनकी भाषा बुरुशास्की है। - कहा जाता है कि ये कम्युनिटी अलेक्जेंटडर द ग्रेट की सेना के वंशज हैं। जो 4थी सदी में यहां आए थे। - ये कम्युनिटी पूरी तरह मुस्लिम है। इनकी सारी एक्टिविटीज मुस्लमानों जैसी ही हैं। - ये कम्युनिटी पाकिस्तान की बाकी कम्युनिटीयों से कहीं ज्यादा एजुकेटेड है। - हुंजा घाटी में इनकी पॉपुलेशन करीब 87 हजार ही है।