WATCH: तीर्थयात्रियों की गुहार, बचा लो सरकार

वरुण सिन्हा, नई दिल्ली (28 मई): दिल्ली से कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए करीब 250 से 300 लोग वहीं फंसकर रह गए हैं। उनकी घर वापसी मुमकिन नहीं हो पा रही है। अपनों के इंतजार में उनके परिवारवालों की परेशानी बढ़ गई है। अब इन लोगों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से गुहार लगाई है।

दरअसल दिल्ली के 250 से 300 लोग कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए थे। इन्होंने टूर ऑपरेटर से यात्रा के लिए पूरा पैकेज बुक कराया था, लेकिन जब घर लौटने की बारी आई तो टूर ऑपरेटर ने उनसे एक लाख रुपए की डिमांड और रख दी। जब इन्होंने देने से मना किया तो ऑपरेटर ने उन्हें नेपाल में चीन बॉर्डर के पास हिल्सा नाम के इलाके में छोड़ दिया, जहां न खाने-पीने का इंतजाम है और न ढंग से रहने का। कुछ लोग तो दवाइयों के अभाव में बीमार भी हो गए हैं। उनकी अपने घरवालों से बातचीत भी नहीं हो पा रही है। तीन दिन पहले उन्होंने मैसेज के जरिए जानकारी दी।

इसके बाद न्यूज 24 की टीम इन लोगों के साथ उस ट्रैवल एजेंसी के ऑफिस भी पहुंची, जिससे इन्होंने पैकेज बुक कराया था। एजेंसी मालिक से जब इस बारे में सवाल पूछा गया तो उसने अपनी अलग दलील दी। फिलहाल इन लोगों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है। अब देखना होगा कि विदेश मंत्रालय इन लोगों की घर वापसी के लिए क्या कदम उठाता है।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=x8qv_S9aZb8[/embed]