'मुसलमानों को बाहरी देशों की मदद मंजूर नहीं'

नई दिल्ली (2 जनवरी): म्यांमार की सरकार ने मलेशिया की ओर से रोहिंग्या मुसलमानों को किसी भी प्रकार की सहायता खेप भेजे जाने का विरोध किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मलेशिया के सहायताकर्मियों का एक गुट अगले महीने म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों के लिए मानवताप्रेमी सहायता लेकर एक कारवां भेजना चाहता है।  इस काम का म्यांमार की सरकार ने कड़ा विरोध किया है। मलेशिया के इस कारवां में राख़ीन प्रांत में रह रहे रोहिंग्या मुसलमानों के लिए खाद्य पदार्थों और सहायता सामग्री की खेप शामिल है। मलेशिया के सहायताकर्मी गुटों ने बल देकर कहा है कि अगर उन्हें म्यांमार की सरकार की ओर से सकारात्मक उत्तर न मिला तब भी वे अपनी मावताप्रेमी ज़िम्मेदारी निभाते रहेंगे।म्यांमार के राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा है कि उसे इस प्रकार का कोई आवेदन नहीं मिला है।  कार्यालय के अनुसार अगर मलेशिया का यह कारवां, आवश्यक अनुमति नहीं प्राप्त कर पाता तो उसे यह सहायता सामग्री, राख़ीन प्रांत ले जाने नहीं दी जाएगी।