ब्राज़ील में सरकार विरोधी अभूतपूर्व प्रदर्शन, 30 लाख लोग उतरे सड़कों पर

 

नई दिल्ली (15 मार्च): सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए ब्राजील के 150 शहरों में 30 से भी ज्यादा लोगों ने एक साथ सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया।  सबसे ज्यादा 5 लाख लोग साओ पाउलो में इक्ट्ठा हुए। इसे ब्राजील के इतिहास का सबसे बड़ा प्रदर्शन कहा जा रहा है। लोग करप्शन के आरोपों से घिरीं राष्ट्रपति डिलमा रॉसेफ को हटाने की मांग कर रहे हैं।

रॉसेफ के एडवाइजर लुइज सिल्वा पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं। देश की जनता की नाराज़गी को देखते हुए सरकार में रॉसेफ की सहयोगी ब्राजीलियन डेमोक्रेटिक मूवमेंट पार्टी ने भी इंपीचमेंट मोशन आने पर रॉसेफ के खिलाफ ही वोट करने के संकेत दिये।

यह स्थिति रॉसेफ के उस बयान के बाद पैदा हुई है जिसमें रॉसेफ ने कहा है कि वो अपने पद से इस्तीफा नहीं देंगी। रॉसेफ ने इंपीचमेंट की खबरों को भी बकवास बताया है। उन्होंने कहा है कि विपक्ष के पास उनके खिलाफ कोई ठोस आधार नहीं है।