बीमार बेटे को छोड़ पति ने प्रिंस विलियम के साथ गोल्फ खेलना ज़रूरी समझा : करिश्मा

मुंबई (29 फरवरी) एक्ट्रेस करिश्मा कपूर ने अपने पति संजय कपूर के ख़िलाफ़ घरेलू उत्पीड़न का जो केस दर्ज कराया है, उसमें एक घटना का हवाला दिया है। करिश्मा के मुताबिक जब उनका बेटा बहुत छोटा था तो बीमार पड़ा था लेकिन संजय कपूर उसे उसी हाल में छोड़कर प्रिंस विलियम के साथ गोल्फ खेलने चले गए थे।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक करिश्मा कपूर ने बांद्रा मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के सामने घरेलू उत्पीड़न की शिकायत की जो अर्जी दाखिल की है, उसकी एक प्रति अख़बार के पास है। इसके मुताबिक जुलाई 2010 में बेटे के बीमार होने की वजह से उन्हें इंग्लैंड का ट्रिप कैंसल करना पड़ा था। संजय इस बात से इतने नाराज़ हुए कि और वो करिश्मा और बेटे को अकेला ही छोड़कर ट्रिप पर चले गए। करिश्मा के मुताबिक उन्हें अपने चार महीने के बीमार बच्चे की अकेले देखभाल करनी पड़ी। करिश्मा ने कहा कि संजय के लिए प्रिंस विलियम के साथ गोल्फ मैच खेलना बेटे की सेहत से ज़्यादा ज़रूरी था। करिश्मा ने शिकायत में कहा कि बाद में उन्होंने संजय को ज्वाइन किया तो भी वो रात-रात भर बाहर रहते थे। संजय तभी लौटते जब वो सुबह 6 बजे बच्चे के लिए फीड तैयार कर रही होती थीं।

बता दें कि संजय कपूर ने बीते दिसंबर में मुंबई में फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्ज़ी ये आधार बताते हुए दाखिल की थी कि करिश्मा कपूर उन्हें बच्चों से मिलने ना देकर क्रूरता बरतती हैं। संजय कपूर ने सुप्रीम कोर्ट में अब याचिका दाखिल कर केस को मुंबई से बाहर ट्रांसफर करने की गुहार लगाई है। बांद्रा फैमिली कोर्ट में तलाक मामले की सुनवाई 3 मार्च को होनी है।

करिश्मा का कहना है कि शादी से पहले ही संजय के पिता ने मेरी मां को रूला दिया था। मैंने उसी वक्त कहा था कि अगर कोई परिवार एक महिला से इस तरह पेश आ सकता है तो भविष्य में कुछ भी कर सकता है। करिश्मा ने कहा कि मैंने उस समय संजय से शादी ना करने का फैसला भी ले लिया था, लेकिन मैं फिर संजय कपूर और उसके परिवार वालों की बातों के झांसे में आ गई।

करिश्मा के मुताबिक प्रैग्नेंसी के बाद उन्हें एक ड्रेस फिट नहीं आ रही थी लेकिन उनकी सास वही ड्रेस उन्हें पहनाना चाहती थी। इस पर संजय ने अपनी मां से कहा कि उसे (करिश्मा को) तुमने थप्पड़ क्यों नहीं मारा। संजय की इस बात पर भी सास ने नहीं टोका। करिश्मा के मुताबिक संजय का जिस तरह का लाइफस्टाइल था उसे रोकने की जगह उनकी मां और बढ़ावा देती थीं।