आपका पावर बैंक असली है या नकली, जाने ऐसे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जून): अगर आप अपने स्मार्टफोन की बैटरी को लेकर परेशान रहते हैं, तो फिर ये खबर खासतौर से आपके लिए है। हमारे फोन में अब इतने फीचर्स होते हैं कि फोन की बैटरी ज्‍यादा वक्‍त तक चल नहीं पाती। ऐसे में पावरबैंक पर निर्भर होना लाजिमी है। स्मार्टफोन की बैटरी खत्म हो जाए और हमारे काम अटक जाएं, ऐसे में पावरबैंक सबसे बड़ा सहारा है।

 अगर आप कहीं बाहर हैं और अपके पास बिजली न हो और न फोन को चार्ज करने की सुविधा हो तो ऐसे पावरबैंक ही मददगार साबित होता है।मार्केट में अब नकली पावरबैंक की भरमार है और असली व नकली की पहचान करना मुश्किल होता जा रहा है। ऐसे में पावरबैंक खरीदने से पहले कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी हैं।अगर आपके पावर बैंक पर ब्रैंड का नाम नहीं लिखा है तो नकली है। अगर आप जो पावर बैंक खरीद रहे हैं उस पर किसी कंपनी का नाम की जगह पावर बैंक लिखा है तो समझ लीजिए आप नकली पावर बैंक खरीद रहे हैं।ध्यान रहे कि अगर नकली पावर बैंक का वज़न हल्का होता है। 5000 एमएएच क्षमता वाले नकली पावर बैंक भी हाथ में लेने पर हल्का ही लगता है। इसलिए पावर बैंक खरीदते समय उसके वज़न का ध्यान रखें। अगर 5000 एमएएच की बैटरी होगी तो ज़ाहिर है कुछ तो वज़न होगा ही।